Maharashtra Uncategorized

भुसावल और बोदवड में आंधी तूफान के बिच जमकर ओले बरसे

भुसावल और बोदवड में आंधी तूफान के बिच जमकर ओले बरसे

लियाकत शाह
(संवाददाता लियाकत शाह)

भुसावल और बोदवड तहसील में शनिवार को शाम 6 बजे से अचानक से मौसम के मिजाज़ में तब्दीलिया आगई और शाम ढलते ही तेज आंधी के साथ साथ बारिश और ओले गिरे. इस बेमौसम बारिश के कारण आम की बागों को स्थानों नुकसान पहुंचा है. शनिवार की दोपहर से ही आकाश में बदीलिया नज़र आने लगी थी. भुसावल शहर सहित जिले में तेज रफ्तार हवाओं ने तांडव बारिश शुरू हो गई. खडका रोड स्थित तडेले कॉलोनी में एक मकान के टीन शेड नुकसान पहुंचा है और एमआयतेली स्कूल के पास एक पेड़ गिरने की सुचना प्राप्त हुई है. बेमौसम बारिश के कारण गेहूं ज्वार चना मक्का की खडी फसलों को नुकसान पहुंचा है. अचानक बारिश आने से किसानों के चेहरे मुरझा गए हैं.
बोदवड के मुक्ताल और वरणगांव क्षेत्र में ओलावृष्टि
वरणगांव क्षेत्र में भुसावल पिंपलगांव बुद्रुक, अचेगांव क्षेत्र में शाम करीब 5 बजे ओलावृष्टि शुरू हुई. लगभग 20 मिनट तक ओलावृष्टि और भारी बारिश के कारण काफी फसलों को नुकसान हुवा. ओलावृष्टि से केले और गेहूं सहित चारे को भी नुकसान पहुंचा. शनिवार शाम 6.30 बजे के आसपास शहर में तेज हवाओं के साथ बारिश होने लगी. देर रात तक रिमझिम बारिश जारी रही जिससे तालुका में ढीला गेहूं, मक्का, प्याज के बीज जैसी फसलें खराब हो गईं. ओलावृष्टि के साथ मूसलाधार बारिश से साकरी, फेकरी, खड़का, वेल्हाले, तलवेल और फूलगांव क्षेत्रों में प्याज मारा गया. तालुका के कुरहे पान इलाके में शनिवार शाम 6.30 बजे तेज हवाओं के साथ बारिश होने लगी. इसलिए किसान खेत में कटे हुए गेहूं को इकट्ठा करने के लिए दौड़ पड़े। बादलों के मौसम को देखकर, कुछ ने गेहूं की फसल को पूरा किया। शाम को शुरू हुई बारिश से भुसावल में भारी बारिश हुई. हालांकि, बारिश ने गेहूं, चना, मक्का, बाजरा, लिम्बु, प्याज और तरबूज को प्रभावित किया है.
(भुसावल और बोदवड तहसील में शनिवार को शाम 6 बजे से अचानक ओलावृष्टि और भारी बारिश हुई)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *