Crime Politics

एस.आर.ए.मे महाघोटाला दोषी अधिकारियो पर कारवाई की मांग

एस.आर.ए.मे महाघोटाला
दोषी अधिकारियो पर कारवाई की मांग

विशेष प्रतिनिधी-

मुंबई मे झोपडपट्टीया बडे पैमाने पर बसी हुई है।इनमे बसनेवाले लोगो का जीवनमान बढाने क लिये और मुंबई को झोपडा मुक्त करने के लिये महाराष्ट्र प्रादेशिक नगर नियम रचना अधिनियम १९६६ मे संशोधन करकर ३ जनवरी १९९७ मे झोपडपट्टी प्राधिकरण को (निगम निकाय दर्जा) दिया गया।लेकीन इनमे कार्यरत भ्रष्ट अधिकारीयौकी वजह से इस प्राधिकरण के मुख्य उद्देश को ही दुर्लक्षित किया जा रहा है।इन योजनाओ मे बडे पैमाने पर अनियमितता करने की घटनाये भी कई बार प्रकाश मे आ चुकी है।इसका ताजा मामला वांद्रे मे एस आर ए मे हुई गडबडी को देखा जा सकता है।जमात ऐ जमहूरिया को-ऑप- हाऊसिंग सो.मे इन्फोरसमेंट डायरेक्टरेट (ई.डि) ने करीब ४६२ करोड रुपये मूल्य के ३३ फ्लॅट्स को जप्त किया था।


ऐसा ही एक और ताजा मामला कांदिवली पश्चिम मे उजागर होणे जा रहा है,आरोप है की राज आरकेड्स होम्स प्रा लि. की तरफ से जयभारत और साईदर्शन को-ऑप हाऊसिंग सो.लि मे बडी मात्रा मे अनियमितता की गई है।आपको बता दे आर टी आय ऍक्टिव्हिस्ट राजेश सावंत ने इस जानकारी को मीडिया से साझा करते हुये कहा की सि टी एस नं ४७१/A, मे स्थित म्हाडा के सहकार खाते मे काम करनेवाले संजय धोंडगे और उपजीलाधिकारी प्रशांत सूर्यवंशी (अतिक्रमण/निष्कासन सक्षम अधिकारी.बोरिवली) इन अधिकारियोने सोसायटी के पदाधिकारियोसे मिलकर फर्जी दस्तावेज के सहारे लाखो करोडो का गबन किया है।स्थानिकोने कई बार इसकी शिकायत की लेकीन इन शिकायतो को कचरे के डिब्बे मे डाळ दिया गया।इस बारे मे आर टी आय ऍक्टिव्हिस्ट राजेश सावंत ने जानकारी जुटाकर म्हाडा अधिकारी संजय धोंडगे,उपजीलाधिकारी प्रशांत सूर्यवंशी को बिल्डर से सांठगाठ का खुलासा किया है और दोषी अधिकारीयोपर निलंबन की कारवाई की मांग के साथ इनकी संपत्ती की जांच की भी मांग को लेकर एक निवेदन म्हाडा के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और म्हाडा सचिव को सोपा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *