National Politics Uttar Pradesh

कोरोनाकाल में लगातार हज़ारों लोग काल के गाल में समाते जा रहे है वही दूसरी और सरकार पंचायत चुनाव कराने पर आमादा है जिससे आम जनमानस के साथ साथ मतदान कर्मी व उनके परिजनों में डर और भय का माहौल है जिससे निजात पाना और उन्हें आस्वस्थ करना आवश्यक है।

 कोरोनाकाल में लगातार हज़ारों लोग काल के गाल में समाते जा रहे है वही दूसरी और सरकार पंचायत चुनाव कराने पर आमादा है जिससे आम जनमानस के साथ साथ मतदान कर्मी व उनके परिजनों में डर और भय का माहौल है जिससे निजात पाना और उन्हें आस्वस्थ करना आवश्यक है।

पत्रकार:- अजय कुमार गुप्ता ।

प्रेस को जारी अपने बयान में उत्तर प्रदेश युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव अधिवक्ता धीरज पांडेय ने बताया कि कांग्रेस पार्टी द्वारा आमजनमानस एव मतदान कर्मियों के सुरक्षा के मद्देनजर दो प्रमुख मांग मुख्यमंत्री कार्यालय व सोनभद्र जिलाधिकारी को ट्वीट कर किया है जिसका अनुपालन करना आवश्यक है श्री पांडेय ने कहा कि जहा कोरोनाकाल में जनपद में सैकड़ो काल के गाल में समा चुके है जनजीवन अस्त व्यस्त है और सरकार चुनाव कराने में मस्त है जो यह साबित करता है उनको आम जनता की जान से कोई लेना देना नही लेकिन जब ठान ही लिया गया है तो कांग्रेस पार्टी यह मांग करती है कि जितने भी पोलिंग बूथ बनाये गए हैं वहाँ मतदान कराने के लिए जो भी पोलिंग पार्टियां रवाना हो उनके साथ एक एम्बुलेंस की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए जिससे कि आपात स्थिति में मतदाता व मतदान कर्मियों को अस्पताल पहुचाया जा सके उन्होंने अपने मांग में यह भी कहा 6 सौ से ज्यादा गावो में एक हजार से ज्यादे पुलिंग बूथ बनाये गए है अगर जनपद में इतने एम्बुलेंस नही तो जिन आस पास के जनपदों में चुनाव सम्पन्न हो चुके है वहा से एम्बुलेंस मंगाया जाए क्यों कि कोई वीआईपी आता है तो उसके पीछे एम्बुलेंस व फायर बिग्रेड पीछे पीछे दौड़ता है कांग्रेस पार्टी के लिए हर मतदाता, मतदान कर्मी वीआईपी है कोई अस्थिरता का मोहाल जनजीवन के मद्देनजर न बने इसलिए एम्बुलेंस आवश्यक है हर पोलिंग बूथ पर

श्री पांडेय ने कहा की दूसरी बड़ी मांग कांग्रेस पार्टी की यह है कि जो भी मतदानकर्मी मतदान कराने जाते है उनका चुनाव के उपरांत रैपिड टेस्ट कराया जाए कि जब वो मतदान सम्पन्न कराकर कर घर जाए तो उनके परिवार में और स्वम उनके अंदर भय डर का माहौल न हो वो आस्वस्थ होकर अपने परिवार के बीच रह सके केवल थर्मल स्क्रेनिग, सेनेटाइजर पर्याप्त नही है क्यों कि मतदान के दौरान वो अंगुली पर स्याही से निशान लगाएंगे और मतदान पर्ची,बैलेट वितरित करेंगे ऐसे में दो गज की दूरी किसी हाल में नही बनाई जा सकती यह बात जिला प्रसासन भी जानता है इसलिए उत्तर प्रदेश सरकार और जिला प्रसासन कांग्रेस पार्टी की मांग को गम्भीरता से जिससे के आम जनमानस व मतदान कर्मियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए और डर भय के माहौल से निजात पाया जा सके..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *