Crime Entertainment Health International Maharashtra National Politics Social States

परमबीर सिंह ने फिर फोड़ा लेटर बम, महाराष्ट्र के डीजीपी संजय पांडे पे लगाए गंभीर आरोप

परमबीर सिंह ने फिर फोड़ा लेटर बम, महाराष्ट्र के डीजीपी संजय पांडे पे लगाए गंभीर आरोप

मुंबई:-मनोज दुबे

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने एक और लेटर बम फोड़ा है।
परमबीर सिंह के एक और पत्र से महाराष्ट्र की राजनीति में खलबली मच गई है।
इस बार उन्होंने महाराष्ट्र के मौजूदा डीजीपी संजय पांडे के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए हैं। सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (सीबीआई) को लिखे लेटर में परमबीर सिंह ने कहा कि महाराष्ट्र के डीजीपी संजय पांडे ने उन्हें पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर लगाए गए आरोपों को वापस लेने को कहा है। परमबीर के मुताबिक, संजय पांडे ने उनसे कहा कि ऐसा करने पर उनके खिलाफ चल रही जांचों को बंद कर दिया जाएगा।
परमबीर सिंह ने आरोप लगाया है कि महाराष्ट्र में अनिल देशमुख के खिलाफ शुरू की गई जांचों को प्रभावित करने का प्रयास किया जा रहा है। सिंह ने आरोप लगाया कि गवाहों के साथ भी छेड़छाड़ की जा रही है।परमबीर सिंह ने करीब डेढ़ महीने पहले राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे एक लेटर में आरोप लगाया था कि अनिल देशमुख ने ही मुंबई पुलिस के निलंबित अधिकारी सचिन वाजे को हर महीने 100 करोड़ रुपए की वसूली का टारगेट दिया था।
लेकिन अनिल देशमुख ने सभी आरोपों से इनकार किया था। लेकिन बॉम्बे हाई कोर्ट की ओर से सीबीआई जांच के आदेश के बाद देशमुख को पद से इस्तीफा देना पड़ा था। सीबीआई ने देशमुख के कई ठिकानों पे छापेमारी भी की थी।इस पूरे मामले की शुरुआत उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर मिले विस्फोटक वाली कार से शुरू हुआ। इस मामले में मुंबई पुलिस के एपीआई सचिन वाझे का नाम सामने आने के बाद विवाद बढ़ता गया।
सीबीआई को लिखे लेटर में परमबीर सिंह ने दावा किया है कि महाराष्ट्र के डीजीपी संजय पांडे ने उन्हें फोन किया और इस बीच वह सीबीआई जांच के मुद्दे पर आ गए। परमबीर ने कहा कि डीजीपी पांडे ने कहा कि वह इस मुद्दे पर कुछ सलाह देना चाहते हैं। परमबीर ने लिखा डीजीपी मुझे सलाह देते हुए कहा कि वह सिस्टम के खिलाफ कई सालों तक लड़े लेकिन सिस्टम कभी आपको जीतने नहीं देता है। अपने अनुभव का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि कोई सिस्टम के खिलाफ नहीं लड़ सकता है। उन्होंने आगे यह भी कहा कि 1 अप्रैल 2021 को मेरे खिलाफ शुरू की गई विभागीय जांच सरकार की ओर से विचार किए जा रहे कार्रवाइयों में से एक है। राज्य सरकार मेरे खिलाफ आपराधिक केस भी दर्ज करना चाहती है।
परमबीर सिंह ने आगे लिखा है, ”डीजीपी ने मुझसे कहा कि यदि मैं ठीक भी हूं तब भी सरकार के खिलाफ नहीं लड़ना चाहिए। यह मुझे आगे भी परेशानियों में डालेगा और अंत में कहीं का नहीं छोड़ेगा।” लेटर में परमबीर सिंह ने कहा कि डीजीपी ने उन्हें मुख्यमंत्री को लिखे लेटर को वापस लेने की सलाह दी। कथित तौर पर डीजीपी ने परमबीर को यह भी बताया कि शिकायत वापस लेते हुए उन्हें कहना चाहिए कि अपने खिलाफ पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के बयानों से नाराज होकर यह लेटर लिख दिया था।परमबीर सिंह के इस लैटर से काफी हलचल मच गई है अब ये देखना है कि परमबीर सिंह द्वारा लगाए गए आरोपो में कितना दम है।
क्या परमबीर सिंह ने जो आरोप संजय पांडे पर लगाये है वो सही है या फिर खुद को बचाने के लिए परमबीर सिंह ने फिर से लैटर बम फोड़ा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *