Crime Maharashtra National

निलंबित पुलिस निरीक्षक सुनील माने को गुंडों से है जान का खतरा।कोर्ट ने दिया जेल में सुरक्षा का आदेश

निलंबित पुलिस निरीक्षक सुनील माने को गुंडों से है जान का खतरा।कोर्ट ने दिया जेल में सुरक्षा का आदेश

मुंबई:-मनोज दुबे

मुंबई क्राइम ब्रांच के निलंबित पुलिस निरीक्षक सुनील माने को कारोबारी मनसुख हिरेन की संदिग्ध मौत के मामले में गिरफ्तार किया गया है। सुनील माने को आज 1 मई को अदालत में पेश किया गया था। जहां अदालत ने सुनील माने को 13 मई तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। इसके अलावा सुनील माने के परिवार ने दावा किया कि माने की जान को खतरा है।अदालत ने मौखिक रूप से सुनील माने को जेल में सुरक्षा प्रदान करने का आदेश दिया।परिवार ने बताया कि सुनील माने ने बहोत से आपराधिक किस्म के लोगो पे कारवाई की है जिसकी वजह से कई लोग उनके जान के दुश्मन है और जेल में उनके साथ कुछ भी दुर्घटना हो सकती है।
ठाणे के व्यवसायी मनसुख हिरेन की संदिग्ध मौत के सिलसिले में पिछले सप्ताह निलंबित पुलिस अधिकारी सुनील माने को गिरफ्तार किया गया था।सुनील माने के रिश्तेदार भी कोर्ट में मौजूद थे। परिजनों ने निलंबित पुलिस इंस्पेक्टर सुनील माने की पहचान एक एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के रूप में की है। उन्होंने जेल जाने पर गुंडों से जान का खतरा होने का दावा किया। फिर मामला अदालत के संज्ञान में लाया गया। अदालत ने यह भी आदेश दिया कि सुनील को हिरासत में भेज दिया जाए।
एनआईए को यह भी संदेह है कि सुनील माने भी इन सभी साजिशों में शामिल है। इसी वजह से सुनील माने को पिछले हफ्ते गिरफ्तार किया गया था।
बताया जा रहा है कि मनसुख हिरेन को तावड़े का फोन आया। एनआईए सूत्रों के मुताबिक यह फ़ोन सुनील माने ने किया था। इसी तरह, मनसुख की संदिग्ध मौत के बाद, सात से आठ लोग उसके शव को ठिकाने लगाने के लिए कलवा खाड़ी गए थे। एनआईए सूत्रों के मुताबिक, सुनील माने भी आठ लोगों में शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *