Crime Entertainment Health

दो साल बाद राजस्थान के “गैंग्स ऑफ भिनमाल’ का मुख्य आरोपी चढ़ा अपराध शाखा १२ के हत्थे

दो साल बाद राजस्थान के “गैंग्स ऑफ भिनमाल’ का मुख्य आरोपी चढ़ा अपराध शाखा १२ के हत्थे

अब तक दे चुके थे करोडो रुपए के सोने और चांदी चोरी करने की वारदात को अंजाम

मुंबई : इंद्रदेव पांडे

मुंबई पुलिस की अपराध शाखा १२ के अधिकारियों ने आखिरकार राजस्थान के “गैंग्स ऑफ भिनमाल’ का मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर ही लिया और सुलझे करोडो रुपए की सोने और चांदी चोरी के राज

मामला दिनाक १० एप्रिल साल २०१७ में बोरीवली पश्चिम में एक सोनार की दुकान में काम करने वाले नौकर ने अपने मालिक को अपनी ईमानदारी के जाल में लेकर इस तरह विश्वासघात किया कि मालिक के ही होश उड़ गए थे. मामला तब सामने आया जब मालिक ने अपने नौकर के भरोसे पर अपनी दुकान छोड कर किसी काम के लिए विदेश चला गया था.

जिसके बाद रोज की तरह दुकान खोलना और बंद कर के दुकान की ओर तिजोरी की चाबी अपने मालकिन तक पहुचाता था. रोज की तरह एक दिन नौकर अपने मालिक के घर गया और अपनी मलकिन को कुछ नशीली पदार्थ परोसा पीने के बाद मालकीन बेहोस हो गई और नौकर ने दुकान की चाबी और तिजोरी की चाबी लेकर फरार हो गया और दे दिया करोडो रुपए चोरी की वारदात को अंजाम दुकान से ले उड़ा ७ किलो २ ग्राम सोने , चांदी, और नकद कुल मिलाकर १करोड़ ३१ लाख रुपए के कीमती जेवरात नकद राशि लेकर फरार हो गया था.

जिसके बाद मुंबई पुलिस के बोरीवली पुलिस स्टेशन में नौकर के खिलाफ भारतीय दंड कानून सहित धारा ३७९, और १२०(बी) के तहत मामला दर्ज कर बोरीवली पुलिस जाँच में जुट गई थी. जिसके बाद दो साल बाद जाकर अपराध शाखा १२ के अधिकारियों को गुप्त सूचना मिली कि आरोपी मुंबई में नाम और अपना पहचान बदलकर रहे रहा है. जिसके बाद सूचना मिलते ही अपराध शाखा १२ के अधिकारियों ने मलाड पूर्व डायमंड मार्किट में जाल बिछाया और राजस्थान के “गैंग्स ऑफ भिनमाल’ का मुख्य आरोपी मनीष देवीलाल दर्जी (३२) को धरदबोचा. पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने अपना गुन्हा कबूल कर लिया और मुंबई में डिंडोशी, नवघर, विलेपार्ले, वी पी रोड, धारावी, और बोरीवली जैसे क्षेत्र में सुनार lकी दुकान में नौकर बनकर करोडो रुपए की चोरी की वारदात को अंजाम दे चुके थे. इस पहले भी इस गैंग के सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था मगर कुछ चोरी किये गए सोने और चांदी की रिकवरी नही कर पाई थी. फिर इस गैंग का मुख्य आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ा तो खुल गया मुंबई में हुए सात ठिकानों पर सुनार की दुकानों में हुई चोरी के राज. अपराध शाखा १२ के अधिकारियों ने मुख्य आरोपी मनीष देवीलाल दर्जी को पूछताछ के बाद बोरीवली पुलिस स्टेशन को सौप दिया. आगे की मामले की जाँच बोरीवली पुलिस के अधिकारी कर रहे हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *