Crime Health

नेवले की बालो से बने हुये पेंटिंग ब्रश बेचनेवाले को किया वन अधिकारी ने गिरफतार

नेवले की बालो से बने हुये पेंटिंग ब्रश बेचनेवाले को किया वन अधिकारी ने गिरफतार

 

दुकान से बरामद हुये १३ हजार २०६ ब्रश

(अनिल सकपाल) –

वन्यजीव जानवरो को I P C की धारा १९७२(सुधार-२००३) की अनुसूची २ के दुसरे भाग के तहत संरक्षण प्रदान किया गया है, जिसमे वन्य जानवर को नुकसान पहूंचाना,शिकार करना,उनके किसी अंग की बिक्री/खरीद करना,स्मगलिंग करना कानुनन जुर्म है।लेकिन कुछ असामाजीक तत्व महज चंद रुपयो की लालच मे वन्य जानवरो की जान जोखीम मे डालने का कार्य करते है,पर इनके कु-कर्मोपर वन अधिकारीयों की पैनी नजर होती है,और समय समय पर अपने गुप्त मुखबिरो की खबर से इन अप्राधियो को धुंड ही लेती है।हम आपको बताते चले, ठाणे जिले के मीरा रोड से एक ऐसे मुजरीम को गिरफतार किया गया जीसकी दुकान से नेवले के बालो से बने हुये छोटे-मोटे, अलग अलग प्रकारके ब्रश बेचे जाते थे।वन अधिकारियोने ने जब यहापर छापेमारी की तो यहा से १३ हजार २०६ पेंटिंग ब्रश बरामद हुये।पकडे गये आरोपी की पहचान मो.फिरोज आलम के रूप मे हुई है और वह नया नगर मे शांतीसदन बिल्डींग के शॉप नंबर ३ यह पेंटिंग ब्रश बेचता था।आरोपी की गिरफतार कर वनपरिक्षेत्र ठाणे कचहरी लाया गया और इंडियन पिनल कोड W L – ०६/२०१९-२० के तहत मामला दर्ज किया गया,दुकान का मालिक छापेमारी के समय बिहार मे रहने के कारण बच गया

पर उसकी भी गिरफतारी भी बहोत ही शीघ्र होगी ऐसा अधिकारियोने ने कहा।यह कारवाई वाइल्ड लाइफ वेलफेर असोसिएट (ठाणे) और वन्यजीव अपराध नियंत्रण कक्ष बेलापूर,नई मुंबई के अगुवाई मे नरेश झुरमुरे(प्रधान वनसंरक्षक,ठाणे) और आदी मलया (निरीक्षक,वन्यजीव अपराध नियंत्रण कक्ष,बेलापूर) के मार्गदर्शन मे जितेंद्र रामगावकर(उप वनसंरक्षक),गिरीजा देसाई पाटील(सहा.वनसंरक्षक) नरेंद्र मुठे(वनक्षेत्रपाल,ठाणे) ने की इस छापेमारी मे टीम का हिस्सा रहे संजय पवार(वनपाल),मनोज परदेशी(वनपाल),संदीप मोरे(वनरक्षक),श्रीमती सानप(वनरक्षक)। इस मामले की आगे की जांच ठाणे के वनक्षेत्रपाल नरेंद्र मुठे कर रहे है और अगर किसी को वन्यजीव की कोई जानकारी पता चले तो टोल फ्री नंबर १९२६ पर जानकारी देने का आवाहन किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *