Crime

रात में रेल्वे प्लेटफार्म या फिर बस स्टैंड पर सोकर अपना गुजारा करने वाले इस चोर ने मुंबई रेल्वे पुलिस की नाक में कर रखा था दम चढ़ गया अपराध शाखा १० के अधिकारियों के हत्थे

रात में रेल्वे प्लेटफार्म या फिर बस स्टैंड पर सोकर अपना गुजारा करने वाले इस चोर ने मुंबई रेल्वे पुलिस की नाक में कर रखा था दम चढ़ गया अपराध शाखा १० के अधिकारियों के हत्थे

मुंबई : इंद्रदेव पांडे

मुंबई पुलिस के रेल्वे पुलिस की नाक में दम करने वाले इस शातिर चोर को मुंबई पुलिस की अपराध शाखा १० के अधिकारियों ने आखिरकार गिरफ्तार कर ही लिया तडीपार होने के बावजूद देता था लोकल ट्रेनों चोरी की वारदात को अंजाम.

फाइट अगेंस्ट क्रिमिनल के पत्रकार को मामले की जानकारी देते हुए मुंबई पुलिस की अपराध शाखा १० के वरिष्ठ पुलिस निरक्षक सुनील माने ने बताया कि दिनाक ८ नवंबर को पुलिस नाईक सतीश कांबले को सूचना मिली कि लोकल ट्रेनों में यात्रियो का चोरी किया हुआ लैपटॉप एक शख्स अंधेरी पूर्व प्रसादम होटल के पास बेचने आने वाला है.

सूचना मिलते ही अपराध शाखा १० के अधिकारियों ने अपने वरिष्ठों इसकी सूचना दी और डीसीपी क्राइम १ अखबर पठान के मार्गदर्शन में अपराध शाखा के वरिष्ठ पुलिस निरक्षक सुनील माने के नेतृत्व में पुलिस नाइक सतीश कांबले , धनंजय चौधरी, सुनील तेली, मोहन घाणेकर, चंद्रकांत गवेकर, विजय कुमार सूर्यवंशी, सुनील रोकड़े ,और अविनाश चकने इन अधिकारियों की टीम गठित की गई और अंधेरी पूर्व रेलवे स्टेशन के बाहर प्रसादम होटल के पास जाल बिछाया और लैपटॉप बेचने आए शातिर चोर को नीले रंग के बैग के साथ देखा जिसके उसे हिरासत में लेकर अधिकारियों ने पूछताछ की जिसके बाद पुलिस की छानबीन में आरोपी के पास से आई टेल कंपनी का मोबाइल फोन, एच पी कंपनी का लैपटॉप, ४ डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड बरामद किया जो किसी अन्य व्यक्ति के नाम पर था। पुलिस की कड़ी पुछताछ में आरोपी ने अपना गुनाह कबूल किया और कहा कि यह बैग उनसे दिनाक ६ नवंबर के दिन बोरीवली से चर्चगेट की तरफ जाने वाली ट्रेन में से चुराया था.

जिसके बाद अधिकारियों ने बोरीवली रेलवे पुलिस से संपर्क किया और घटना की पुष्टि की गई और बोरीवली रेलवे पुलिस ने घटना की पुष्टि करते हुए बोरीवली रेलवे पुलिस में दिनाक ७ नवंबर को चोरी का मामला दर्ज किया गया था. जिसके बाद बोरीवली रेलवे पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड कानून सहित ३७९ के तहत मामला दर्ज किया था.

आगे अधिकारी ने कहा कि आरोपी की पहचान सरबन लक्मन मनहंतो (२१) के रूप में हुई और वह बिहार का निवासी हैं. मुंबई में आरोपी कभी रेलवे स्टेशन या फिर बस स्टैंड सोया करता था क्योंकि मुंबई में उसका कोई ठिकाना नहीं था. आरोपी को दादर रेलवे पुलिस ने तड़ीपार भी किया था पर अपनी हरकतों से बाज नहीं आया और मुंबई के रेलवे पुलिस स्टेशन में अपना खाता खोलता रहा आरोपी के खिलाफ बोरीवली रेलवे, वडाला रेलवे, और दादर रेलवे पुलिस में पहले भी मामले दर्ज हो चुके हैं. अधिकारियों की पुछताछ के बाद आरोपी सरबन लक्मन मनहंतो (२१) को बोरीवली रेलवे पुलिस को सौप दिया गया है.
आगे की पुछताछ बोरीवली रेलवे पुलिस के अधिकारी कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *