Crime Health Politics Uncategorized

फर्जी दस्तावेज के आधार पर ट्रस्ट के झोपड़े को बताया निजी घर

फर्जी दस्तावेज के आधार पर ट्रस्ट के झोपड़े को बताया निजी रघर

मुंबई – इंद्रदेव पांडे

श्री साई धाम चैरिटेबल ट्रस्ट के झोपड़े को बिल्डर और म्हाडा के अधिकारी की मिलीभगत से हड़पने की कोशिश।

मंदिर ट्रस्ट अध्यक्ष को बिल्डर के गुंडडों ने दी जान से मारने की धमकी।

मुंबई बोरीवली पूर्व मगाथाणे विधानसभा के गणेश नगर स्थित श्री साई धाम चैरिटेबल ट्रस्ट के नाम पर लिया गया झोपड़े को वहां का स्थानीय सूर्या ग्रुप बिल्डर स्थानीय गुंडडों से मिलकर वहां की राहवाशियो द्वारा खून पसीने से बनाये गए झोपड़े को जबरदस्ती कब्जा करने का काम कर रहा है जबकि झोपड़ा धारक इसका विरोध कर रहा है लेकिन बिल्डर विपुल शाह और म्हाडा अधिकारी भगवान सावंत (सक्षम प्राधिकारी एवं उप मुख्य अधिकारी (पणन)मुंबई मंडल की मिली भगत से श्री साई धाम चैरिटेबल ट्रस्ट के नाम का झोपड़े को अशोक यादव (पान पट्टी वाला) और मोनू शर्मा नामक गुंडे मिलकर पुराने फ़र्जी पेपर के द्वारा ट्रस्ट के झोपड़े को हड़पने की कोशिश कर रहे है।
श्री साई धाम चैरिटेबल ट्रस्ट मंदिर के अध्यक्ष मुरली प्रसाद चौधरी द्वारा मिली जानकारी के अनुसार सुर्या ग्रुप नामक बिल्डर यहां झोपड़ा धारकों को पुनर्वशन के नाम झोपड़ा खाली करवा रहा है

लेकिन ३ साल गुजर जाने के बाद भी सूर्या बिल्डर ने कोई ट्रांजिट कैम्प नही बनाया है सिर्फ झोपड़ा तोड़कर लोगो को भाड़ा देकर यहां से पलायन करने का काम कर रहा है। इसी क्रम में गुरुवार को म्हाडा अधिकारी भगवान सावंत द्वारा कुछ झोपड़े का सर्वे करने का जानकारी दिया था जिसको लेकर श्री साई धाम चैरिटेबल ट्रस्ट के नाम पर झोपड़े को भी सर्वे के लिए ट्रस्ट अध्यक्ष मुरली प्रसाद को बुलाया गया लेकिन मौके पर बिल्डर अपने खास गुंडडों जिसका नाम अशोक यादव (पान पट्टी वाला) और मोनू शर्मा नामक व्यक्ति को फर्जी पेपर के साथ झोपड़े के सामने खड़ा कर फ़ोटो निकाला और सिर्फ साई मंदिर के नाम पर रूम को पात्र करने की बात कही गई जबकि बिल्डर के आदमी अशोक यादव और मोनू शर्मा का श्री साई धाम चैरिटेबल ट्रस्ट से कोई लेना देना नही है। न तो ट्रस्ट में है और नही उनका कोई मंदिर के नाम पर उनका कोई झोपड़ा है फिर भी बिल्डर जानबूझकर ट्रस्ट के नाम के झोपड़े को अपने कुछ लोगो के नाम पर देना चाहता है। जिसका ट्रस्ट अध्यक्ष द्वारा विरोध करने पर जान से मारने की धमकी उनके गुंडो द्वारा दी जा रही है।स्थानीय राहवाशियो द्वारा मिली जानकारी के अनुसार ऐसे कई फर्जी दस्तावेज के आधार पर बिल्डर ने अग्रीमेंट किया है जहां कोई रूम ही नही है। अगर ईमानदारी से जांच होगी तो बिल्डर का पोल खुलेगा और गरीब जनता को बेघर होने से बचाया जा सकेगा। वही ट्रस्ट अध्यक्ष मुरली चौधरी ने म्हाडा के उच्च अधिकारियो द्वारा इसकी कड़ी जांच की मांग कि है। वही पड़ोसियो ने भी बताया कि यह रूम श्री साई चैरिटेबल ट्रस्ट के नाम पर है जहां ट्रस्ट के मंदिर का सामान रखने का काम ट्रस्ट अध्यक्ष मुरली प्रसाद चौधरी करते है।
इस पूरे मामले की शिकायत ट्रस्ट अध्यक्ष मुरली प्रसाद चौधरी ने कस्तूरबा पुलिस और एसआरए सीईओ दीपक कपूर को भी दिया है। जिसकी पूरी जांच करने का आश्वाशन दीपक कपूर ने दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *