Cricket Crime Entertainment Health Politics Uncategorized

‘ वी द पीपल ’ के कार्यकर्ता और सेव आरे के कार्य कर्ताओंने आज आरे जंगल के एक उद्यान मे पेड़ और प्रकृति को बचहाँने के लिए संगठित होकर अगली प्लानिंग का कार्यक्रम किया.

आरे बचाओ जंग जारी

‘ वी द पीपल ’ के कार्यकर्ता और सेव आरे के कार्य कर्ताओंने आज आरे जंगल के एक उद्यान मे पेड़ और प्रकृति को बचहाँने के लिए संगठित होकर अगली प्लानिंग का कार्यक्रम किया.

मुंबई : इंद्रदेव पांडे 

वी द पीपल’ के प्रमुख श्री प्रशांत लक्ष्मेश्वर और ‘ सेव आरे ’ के कार्यकर्ताओ ने कहा की महाराष्ट्र मे ऐसी राजनीतिक विपदा का कारण देवेन्द्र फड़नवीस सरकार का आरे जंगल के प्रति दूर व्यवहार था..!
श्री. प्रशांत लक्ष्मेश्वर ने इस्स बात पर जोर दिया कि अगर भाजपा सरकार लोगों को बता डे की अगले ५ सालों मे वो आरे जंगल का अलग अलग प्रकल्प लाकर कैसा विनाश करने वाँले है तो पूरी मुम्बई भाजपा के ख़िलाफ़ हो जायेगी..!

संजय गांधी नैशनल पार्क मे भी मेट्रो के नाम पर झाड़ो और प्रकृति का विनाश शुरू कर रहे है..! जब तक मुम्बईकरो को मालूम पड़ेगा तब तब डिवेलप्मेंट के नाम पर ये लोग प्रकृति का बोहोत ज़्यादा नुक़सान कर चूके होगे..!

पूरी दुनिया ग्लोबल वॉर्मिंग से त्रस्त है, मोदी जी ख़ुद दुनिया भर मे ग्लोबल वॉर्मिंग की बात करतय है और उनके मंत्री डिवेलप्मेंट और इन्फ़्रस्ट्रक्चर के नाम पर प्रकृति का विनाश कर रहे है..! ये दोगली नीटी क्यू..?
अभी तक हमारे २९ अक्टिविस्टस और वॉलुंटीयर्स को बेइज़्ज़त बरी नाहीं किया इनहोने. स्टूडेंट्स, टीचर, काम पर जाने वाँले, ग़रीब आदिवासी, इन सब का इनहे श्राप और हाय लगी है..!

जैसा कि भाजपा को ज़बरदस्ती अपनी सरकार बनने की आदत है, हो सकता है की भाजपा फिर से सरकार बनाने मे कामयाब हो जाये लेकिन अगर वो फिर से प्रकृति का विनाश करेंगे तो हम फिर से उनका विरोध हर हाल मे करेंगे. जों भी सरकार आए अगर वो प्राकृति का रक्षण करेंगीं तो हम अपना पुरा समर्थन उनको डैंगे..!
डिवेलप्मेंट और इन्फ़्रस्ट्रक्चर के नाम पर कई किलॉमेटर केबल डालने के दोहरान निसरग का विनाश हो raha है, कई चोतए बॉडे पोवदो का विनाश हो रहा है..! कई कीयोलमेटेर पक्के मे सिमेंट के इस्तायमाल से ज़मीन नसतह हो रही है..!
वी द पीपल के प्रमुख श्री प्रशांत लक्ष्मेश्वर ने कहा की सप्रीम कोर्ट के आदेश तक पूर्णत तहा काम बांधे होना चाहिए..!
‘वी द पीपल ‘

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *