Cricket Crime Entertainment Health Politics Uncategorized

२ लाख का लोन चुकाने के चक्कर मे बिक गई ४ बच्चो की माँ दरिंदे ने आबरु की उड़ा दी धज्जियां राजस्थान से छुड़ाने में कामयाब हुई कुरार पुलिस दो महिला सहित ४ गिरफ्तार

२ लाख का लोन चुकाने के चक्कर मे बिक गई ४ बच्चो की माँ दरिंदे ने आबरु की उड़ा दी धज्जियां राजस्थान से छुड़ाने में कामयाब हुई कुरार पुलिस दो महिला सहित ४ गिरफ्तार

मुंबई : इंद्रदेव पांडे

गरीबी कितना बड़ा अभिशाप है यह उस महिला की कहानी से सामने आई है जो महज २ लाख रुपये का कर्ज चुकाने के चक्कर मे अपनी पहचान की महिला द्वारा ही एक लाख ६० हजार रुपये में बेच दी गई।इस दौरण यह महिला शारीरिक और मानसिक प्रताणना का शिकार भी बनी। फिलहाल कुरार पुलिस उसे राजस्थान से छुड़ाकर लाने में कामयाब रही है। ज़ोन १२ डीसीपी डॉक्टर डी एस स्वामी ने इस मामले को सुलझाने वाली कुरार पुलिस स्टेशन के डिटेक्शन अधिकारी सहायक पुलिस निरीक्षक जी एस घारगे और उनकी टीम की भूरिभूरी प्रसंसा करते दिखाई दिए।

 

खबर के अनुसार ३५ वर्षीय पीड़िता अपने परिवार के साथ मालाड पूर्व पठानवाड़ी इलाके में रहती है। उसी की परिचित नागरिनिवारा में रहने वाली कुसुम और अनीश को उसने बताया था कि उसपर २ लाख का कर्ज है। उसे चुकाने के लिए कही अच्छा काम की तलाश कर रही है। इसी का फायदा उठाते हुए कुसुम ने उसे कटर्स का काम दिलवाने भरोशा दिया। ५ नवेंबेर को असलम उर्फ राजू नामक व्यक्ति के साथ कुसुम पीड़िता के घर गई और गुजरात मे केटरिंग में काम करने के बदले ज्यादा पैसा मिलने का लालच दिया।उस दिन रात को राजू और कुसुम मिलकर पीड़िता को लेकर बोरीवली स्टेशन पहुचे वहां से राजू और कुसुम पीड़िता को लेकर गुजरात के कोसम्ब पहुचे जहां ४ दिन एक घर मे रखा उंसके बाद वे दोनों पीड़ित महिला को लेकर अहमदाबाद रेलवे स्टेशन पर विजय नामक व्यक्ति से मिले और वहां के गोदशा इलाके में उसे रखा। दूसरे दिन विजय कुसुम और राजू यह तीनों कविता उर्फ सलमा नामक ३५ वर्षीय के घर ले गई वहां से वे सभी राजस्थान के झुन झुन जिला में ३३ वर्षीय कृष्णा कुमार के घर ले गए जहां पीडिता को १० दिन तक रखा।वहां प्रवीण कुमार जांगिड़ ३३ वर्षीय व्यक्ति ने पीड़िता को ३ – ४ आदमी को दिखाया वहां पीड़िता को बताया कि अगर जो तुझे देखने आए है उनमें से जिसको भी तुम पसंद आओगी उंसके साथ तुम्हे शादी करनी पड़ेगी वार्ना हम तुम्हे कोठे पर बेंच देंगे।१८ नवेंबेर को ४० वर्षीय मुकेश कुमार के साथ झुनझुन के ही एक मंदिर में पीड़िता के साथ जबरन शादी रचाया गया वही एक वकील के पास लेजाकर स्टाम्प पेपर पर पीड़िता का शाइन लिया गया।

इसी दौरान पीड़िता को पता चला कि कुसुम और कविता के साथ अन्य लोगों ने १ लाख ६० हजार में मुकेश को बेच दिया गया है। १ दिसंबर को जब सब लोग खाना खाने गए थे तभी मौका पाकर पीड़िता लगभग ४ किलोमीटर भागकर खुदको बचाने की कोशिश की परन्तु उसे पकड़ लिया गया। इसकी सजा उसे पिटाई और बलात्कार के रूप में मिली। इसी दौरान २ दिसंबर को मुकेश के भतीजे विवेक उर्फ विक्की ने पीड़िता के बेटे के मोबाइल पर फोन कर कहाँ की तुम्हारी माँ हमारे पास है वापस चाहिए तो २ लाख रुपये लेकर आओ और मां को ले जाओ इसीके बाद मुंबई में रहरहे पीड़िता के पति ने कुरार पुलिस स्टेशन पत्नी की गुमसुदगी व अगवा किये जाने की शिकायत दर्ज कराई। उसी के बाद विक्की के मोबाइल लोकेशन के आधार पर कुरार पुलिस ने विक्की और मुकेश, कृष्ण कुमार, प्रवीण कुमार को झुन झुन से गिरफ्तार किया।वही कविता को अहमदाबाद से तो कुसुम को गोरेगॉव पूर्व नागरिनिवारा से गिरफ्तार किया गया इन सभी पर भारतीय दंड कानून सहित धारा ३६६,३७०,३७०(अ)३७६ और ३४ के तहत मामला दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया जहां इन सभी आरोपियो को १५ दिसंबर तक पुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया गया है।

सूत्रों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार अभी करीब ३ अन्य महिलाएं है जिनको इसी ग्रुप ने बेंच दिया है। फिलहाल कुरार पुलिस इन्ही आरोपियो के आधार पर आगे की जांच कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *