Crime Health Uncategorized

मुंबई पुलिस की अपराध शाखा १२ के अधिकारियों ने दिनदहाड़े ज्वेलर्स व्यापारी को लूटने वाले गिरोह का किया पर्दाफाश पांच गिरफ्तार

मुंबई पुलिस की अपराध शाखा १२ के अधिकारियों ने दिनदहाड़े ज्वेलर्स व्यापारी को लूटने वाले गिरोह का किया पर्दाफाश पांच गिरफ्तार

मुंबई – इंद्रदेव पांडे

मुंबई . ज्वेलर्स की दूकान में दिनदहाड़े बंदूख की नोक पर लूटपाट करने वाले गिरोह के पांच लोगो को मुंबई अपराध। शाखा १२ ने गिरफ्तार किया है इनके पास से एक गावठी कट्टा , तीन जिंदा कारतूस ,चोरी के दो होंडा यूनिकॉर्न मोटरसाइकल आदि बरामद की है.

मुंबई पुलिस की अपराध शाखा १२ ने ज्वेलर्स दुकान में लूटपाट करने वाले गिरोह के भारत जगदीश शर्मा (३८ ),घेवरचंद फुटरमाली सुतार (३७ ),फरमान उर्फ़ फैजान हनीफ कुरैशी (२४ ),शेजाद राउसुद्दीन मलिक (२८ ) और शाहिद युसूफ खान (३०) को गिरफ्तार किया है | २२ जनवरी कांदिवली स्थित प्रामाणिक ज्वेलर्स के दुकान में दिनदहाड़े अज्ञात आरोपियों ने बंदूख के साथ दूकान में प्रवेश कर ज्वेलर्स मालिक को बंदूक दिखाकर डकैती डालने की कोशिस किया | लेकिन दुकान मालिक द्वारा शोर मचाये जाने पर दो मोटरसायकल से फरार हो गए इस घटना के बाद समता नगर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराया गया मामले की जांच अपराध शाखा को सौपा गया | मुंबई अपराध शाखा १२ के प्रभारी पुलिस निरीक्षक सागर शिवलकर ,पुलिस निरीक्षक सचिन गवस ,अतुल डहाके ,सहायक पुलिस निरीक्षक विक्रमसिंह कदम ,अतुल अव्हाड ,प्रकाश सावंत ,आशीष शेलके ,पुलिस उपनिरीक्षक हरीश पोल ,हेमंत गीते आदि की टीम बनाकर जांच शुरू किया गया

१०० सीसीटीवी फुटेज की मदत से सुराग हाथ लगा

पुलिस ने ज्वेलर्स दुकान के पास और आस पास के लगभग १००सीसीटीवी फुटेज की जांच किए इस जांच में आरोपियों का सुराग लगा आरोपी घटना को अंजाम देकर फरार हो गए थे पुलिस आरोपियों पर नजर बनाई हुई थी इस बिच जानकारी मिला की इस घटना को अंजाम देने वाले आरोपी आने वाले है जिसके बाद पुलिस ने जाल बिछाकर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया उनके पास से एक गावठी कट्टा , तीन जिंदा कारतूस ,चोरी के दो होंडा यूनिकॉर्न मोटरसाइकल , एक चॉपर आदि बरामद किए

पुणे और भिवंडी में डालने वाले थे डकैती
आरोपियों से पूछताछ में खुलासा हुआ है कि गिरफ्तार मुख्य आरोपी भारत शर्मा का विरार में सोने चांदी की दूकान है उसके खिलाफ राजस्थान के बामेर ,गुजरात के वापी और बैंगलोर में कई मामले दर्ज है वह जब गुजरात के नवसारी जेल में बंद था तभी उसके आरोपियों से पहचान था .

तभी प्रामाणिक प्रामाणिक ज्वेलर्स ,भिवंडी के पारस मेडिकल स्टॉकिस्ट और पुणे के शिवम् ज्वेलर्स में डकैती के बारे जानकारी देकर डकैती डालने की तैयारी किया था उसके अनुसार डकैती डालने के लिए वापस आए थे विशेष की आरोपी दुकानदार या व्यवसाई को लुटने से पहले रेकी करते थे उसके बाद जब दुकान या कार्यालय से बाहर निकलते आरोपी उसपर हमला कर लूटपाट कर लेते थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *