Crime

साल २०१६ में गश्त के दौरान पुलिसकर्मी पर हमला कर हत्या करने के मामले में व्यक्ति को मिली उम्रकैद की सज़ा

साल २०१६ में गश्त के दौरान पुलिसकर्मी पर हमला कर हत्या करने के मामले में व्यक्ति को मिली उम्रकैद की सज़ा

मुंबई – इंद्रदेव पांडे

मुंबई के बांद्रा उपनगर में ट्रैफिक पुलिस के एक कांस्टेबल की २०१६ में हत्या करने के मामले में दोषी पाए गए एक व्यक्ति को शनिवार को कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है . दोषी के भाई पर भी कांस्टेबल पर किए गए हमले में शामिल होने का आरोप है और उस पर अलग से मुकदमा चल रहा है. इस घटना के समय दोषी का भाई नाबालिग था.
अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश के एम जायसवाल ने शुक्रवार को अहमद कुरैशी (२३)
को भारतीय दंड संहिता की धारा ३०२ के तहत दोषी पाया था.अभियोजन पक्ष ने दोषी के लिए मौत की सजा की मांग थी जबकि बचाव पक्ष की दलील थी कि कुरैशी
का कोई आपराधिक इतिहास नहीं है इसलिए उसे कम सजा मिलनी चाहिए। न्यायाधीश ने इसका संज्ञान लेते हुए कहा कि मौत की सजा केवल गंभीर मामलों में ही दी जाती है. साथ ही अदालत ने कहा कि यदि पुलिसकर्मियों पर हमले के
मामलों में अनावश्यक नरमी दिखाई जाएगी तो इससे समाज में गलत संदेश जाएगा.अगस्त २०१६ में ५२ वर्षीय शिंदे बांद्रा क्षेत्र में गश्त पर थे कि इसी दौरान उन्होंने कुरैशी को बिना हेलमेट के दोपहिया वाहन चलाते देखा और उसे रोका अभियोजन पक्ष के अनुसार जब शिंदे ने कुरैशी से लाइसेंस और अन्य कागजात मांगे तो उसने शिंदे पर डंडे से कई बार मारा और उसके पेट पर भी प्रहार किया इसके बाद कुरैशी भाग गया हमले में कुरैशी का भाई भी शामिल
था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *