Crime Entertainment Health Politics

11 साल बाद मुंबई 26/11 आतंकी हमले में अजमल कसाब को गिरफ्तार करने वाले १४ पुलिसकर्मियों को आउट ऑफ टर्न प्रमोशन

11 साल बाद मुंबई 26/11 आतंकी हमले में अजमल कसाब को गिरफ्तार करने वाले १४ पुलिसकर्मियों को आउट ऑफ टर्न प्रमोशन

गृहराज्य मंत्री अनिल देशमुख

 

मुंबई – इंद्रदेव पांडे

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख के अनुसार २६ नवंबर २००८ को मुंबई में आतंकी अजमल कसाब को गिरफ्तार करने वाले १४ पुलिसकर्मियों को राज्य सरकार द्वारा आउट ऑफ टर्न प्रमोशन दिया गया है। गौरतलब है कि गिरफ्तार किये गये आतंकी अजमल कसाब को २१ नवंबर २०१२ को यरवडा जेल में सुबह ७.३० बजे फांसी पर लटका दिया गया था।

क्या था मामला

२६ नवंबर, २००८ को मुंबई में पाकिस्तानी आतंकियों ने बेकसूरों की हत्या कर आतंक के नंगे नाच का प्रदर्शन किया था। इस हमले के दौरान मुंबई पुलिस के दल ने एक आतंकी को जिंदा गिरफ्तार किया था जबकि बाकी आतंकी पुलिस की गोली का शिकार हो गये थे। इस आतंकी का नाम अब्दुल कसाब था। गिरफ्तार किये गये इस आतंकी पर चार साल तक मुकदमा चला उसके बाद २१ नवंबर २०१२ को यरवडा जेल में सुबह ७.३०बजे फांसी की सजा दे दी गई थी।

इन दस आतंकियों ने मुंबई की सड़कों समेत वीटी स्टेशन और होटल ताज जैसे जगहों पर अंधाधुंध फायरिंग कर १६६ बेकसूर लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। मुंबई के लोगों के लिए ये रात भयावह आैर वाकई काली रात थी। इस हमले में मात्र एक आतंकी को ही जिंदा पकड़ा गया था। बाद में इस आतंकी पर चार साल तक मुकदमा चला और फिर उसे फांसी दे दी गयी।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस हमले में साजिश रचने वाले आतंकियों की बकायदा प्रशिक्षित किया गया था। इस साजिश को रचने वाले आतंकी आज भी पाकिस्तान में आजाद घूम रहे हैं। इस साजिश का सबसे बड़ा चेहरा आतंकी हाफिज सईद इस घटना के बाद कई बार पाकिस्तान में देखा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *