Crime Entertainment Health Politics

अपराध शाखा ७ के अधिकारियों के शिकंजे में डॉन प्रसाद पुजारी की मां इंदिरा पुजारी को किया गिरफ्तार

अपराध शाखा ७ के अधिकारियों के शिकंजे में डॉन प्रसाद पुजारी की मां इंदिरा पुजारी को किया गिरफ्तार

शूटरों के एकाउंट में पैसा ट्रांसफर करने का काम करती थी डॉन प्रसाद पुजारी की मां

मुंबई – इंद्रदेव पांडे

क्राइम ब्रांच ने डॉन प्रसाद पुजारी की मां इंदिरा पुजारी को बुधवार को गिरफ्तार किया है। डीसीपी अकबर पठान ने बताया कि इंदिरा गैंग की तरफ से शूटरों तक रकम भिजवाने की व्यवस्था करती थी। इस केस में प्रसाद पुजारी के मौसेरे भाई सुरेश कुमार सुवर्णा को भी क्राइम ब्रांच ने कर्नाटक से अरेस्ट किया था। सुवर्णा ने सुनील आगाणे नामक एक कॉन्ट्रेक्टर के अकाउंट में २५ हजार रुपये रकम ट्रांसफर की थी। सुवर्णा को यह रकम इंदिरा ने ही दी थी।

सीनियर इंस्पेक्टर सतीश तावरे ने बताया, ‘हमारी छानबीन में यह बात भी सामने आई है कि इंदिरा पुजारी ने एक शूटर के अकाउंट में दो लाख रुपये और दूसरे के अकाउंट में ५० हजार रुपये भी दो अन्य मौकों पर ट्रांसफर किए। इसीलिए हमने अन्य आरोपियों के साथ उस पर भी मकोका लगाया।’

बिल्‍डर को धमकाया था पुजारी ने

डीसीपी पठान ने बताया कि कुछ महीने पहले विक्रोली में शिवसेना उप विभाग प्रमुख चंद्रशेखर जाधव पर जिस सागर मिश्रा ने गोली चलाई थी, उसे भी इंदिरा ने रकम दी थी। उसी विक्रोली शूटआउट के बाद प्रसाद पुजारी ने विक्रोली के एक बिल्डर को फोन किया था और धमकाते हुए कहा था कि ‘तुम्हें याद है ना विक्रोली में मैने एक चॉकलेट (शूटआउट ) दिया था। मैं उस शूटआउट के बाद सबसे एक करोड़ रुपये लेता हूं। चूंकि तुम हमारे इलाके के हो, इसलिए तुम मुझे सिर्फ दस लाख रुपये ही देना।’

बिल्‍डर ने नहीं दिया पुजारी को कोई भाव

जब बिल्डर ने प्रसाद को उसकी धमकियों पर कोई भाव नहीं दिया था, तो प्रसाद पुजारी ने सुनील आगाणे नामक कॉन्ट्रैक्टर को बिल्डर के दफ्तर जाकर उससे बात करने को कहा था। बदले में इंदिरा पुजारी द्वारा दी गई रकम को सुरेश कुमार सुवर्णा ने सुनील आगाणे के अकाउंट में ट्रांसफर किया था.

सुवर्णा पहले नवी मुंबई और सिलवासा में सुपरवाइजर था। बाद में वह गैंग में शामिल हो गया। जांच अधिकारियों को शक है कि प्रसाद पुजारी को मिली हफ्ते की रकम पहले उसकी मां के पास मीरा-भाईंदर में पहुंचाई जाती थी और फिर वहां से हवाला से उस तक रकम पहुंचती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *