Crime Entertainment Health Politics

मेडिकल टीम पर हमला करने वाले आरोपियों पर कड़ी कार्यवाही, रासुका लगाने के साथ ही रीवा जेल भेजा गया

मेडिकल टीम पर हमला करने वाले आरोपियों पर कड़ी कार्यवाही, रासुका लगाने के साथ ही रीवा जेल भेजा गया

रासुका क्या है, इसे भी जानिए

इंदौर : कोरोना वायरस के मरीज खोजे जाने के दौरान मेडिकल टीम पर इंदौर के टाटपट्टी बाखल मोहल्ले में कुछ लोगो ने हमला कर दिया था, इन नामजद आरोपीयो के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की गई हैं, तथा इन पर रासुका लगायी गई है। आरोपी मोहम्मद मुस्तफ़ा पिता हाजी मोहम्मद इस्माइल उम्र 28 साल, मोहम्मद गुलरेज पिता हाजी अब्दुल गनी उम्र 32 साल, सोयब उर्फ़ सोभी पिता मोहम्मद मुख्तियार उम्र 36 साल और मज्जू उर्फ़ मजीद पिता अब्दुल गफूर उम्र 48 साल निवासी सभी टाट पट्टी बाखल इंदौर के बाशिंदे हैं।*
*इंदौर कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्री मनीष सिंह ने यह कार्यवाही राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम 1980 की धारा तीन की उपधारा दो के तहत की है। रासुका में निरुद्ध किए गए इन दोषियों को केंद्रीय जेल रीवा में रखे जाने के आदेश श्री मनीष सिंह जिला दंडाधिकारी द्वारा दिए गए हैं।

नागरिकों की गिरफ्तारी
अगर सरकार को लगता कि कोई व्यक्ति उसे देश की सुरक्षा सुनिश्चित करने वाले कार्यों को करने से रोक रहा है तो वह उसे गिरफ्तार करने की शक्ति दे सकती है। सरकार को ये लगे कि कोई व्यक्ति कानून-व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने में उसके सामने बाधा खड़ा कर रहा है, तो वह उसे गिरफ्तार करने का आदेश दे सकती है। साथ ही, अगर उसे लगे कि वह व्यक्ति आवश्यक सेवा की आपूर्ति में बाधा बन रहा है तो वह उसे गिरफ्तार करवा सकती है। इस कानून के तहत जमाखोरों की भी गिरफ्तारी की जा सकती है। इस कानून का उपयोग जिलाधिकारी, पुलिस आयुक्त, राज्य सरकार अपने सीमित दायरे में भी कर सकती है।

गिरफ्तारी की सीमा
कानून के तहत किसी व्यक्ति को पहले तीन महीने के लिए गिरफ्तार किया जा सकता है। फिर, आवश्यकतानुसार, तीन-तीन महीने के लिए गिरफ्तारी की अवधि बढ़ाई जा सकती है। एकबार में तीन महीने से अधिक की अवधि नहीं बढ़ाई जा सकती है।

गिरफ्तारी की अधिकतम अवधि

अगर, गिरफ्तारी के कारण पर्याप्त साबित हो जाते हैं तो व्यक्ति को गिरफ्तारी की अवधि से एक साल तक हिरासत में रखा जा सकता है। समया अवधि पूरा होने से पहले न तो सजा समाप्त की जा सकती है और ना ही उसमें फेरबदल हो सकता है।

One Reply to “मेडिकल टीम पर हमला करने वाले आरोपियों पर कड़ी कार्यवाही, रासुका लगाने के साथ ही रीवा जेल भेजा गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *