Entertainment Health

फिल्ममेकर वरदराज स्वामी ने राष्ट्र को दिया मोटिवेशनल संदेश।

फिल्ममेकर वरदराज स्वामी ने राष्ट्र को दिया मोटिवेशनल संदेश।

नवल कोरोनावाइरस – कोविड-19 की वैश्विक महामारी के इस दौर में जहाँ आज पूरा विश्व लॉक डाउन की स्थिति में खड़ा है, और जहाँ सौ से भी अधिक देशों की आर्थिक स्थिति चरमरा गई है, वैसे में हमारा देश भारत विश्व का जिस तरीके से मार्गदर्शन कर रहा है, उसका अमीर से अमीर और गरीब से गरीब देश भी आज भारत का हर सुझाव मानने को तैयार हैं|

भारत इस बीमारी से लड़ने में पूरी दुनियाँ को मदद पहुंचा रहा है, ये देखकर हमें अपने देश पर गर्व महसूस होता है। ये कविता भारत और भारतवासियों को समर्पित है|

सहज शब्दों को बड़े गहरे अर्थ देकर यह कविता जनचेतना जगाने की कोशिश करती है, ये लोगों में मोटिवेशन देने का काम करती है। ये सच है कि भारत का हर व्यक्ति चाहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हो या कोई कवि, शायर हो या वैज्ञानिक हो या फिर आम जनमानस हो हमेशा सहज जीवन जीने में और विश्वकल्याण की बात करता है, और अपनी इसी विचारधारा की वजह से ये देश युगों तक रहेगा|

हाथों में लेकर विजय पताका।
विश्व पर हम लहराएंगे ।।
विश्व विजय की चाहत नहीं ।
हम विश्व गौरव कहलाएंगे ।।

विश्व शक्ति की चाहत नहीं ।
हम विश्व गौरव कहलाएंगे ।।

जब दृढ़ संकल्प प्रधान देश का कहता है अभिमान से।
मैं देश नहीं झुकने दूंगा|
मिट जाऊंगा|
पर…देश..!!!
नहीं मिटने दूंगा…!!!
इस देश का कवि जब कहता है…!!!
कविता नहीं यह ललकार है|
हर युद्ध का एकमात्र हथियार है।

अरे सपना जागी आंखों से देखो जब देश का वैज्ञानिक कहता है|
जब देश का हर एक आदमी योद्धा वीर सिपाही है…
हे महा संकट…!!??
तब तुम कैसे इस देश में रह पाओगे..?
कुछ दिन में ही थक हार कर…
भाग यहां से जाओगे..!!
तुम जैसे और न जाने इस देश में|
कितने संकट आयेंगे और कितने संकट जायेंगे|

हाथों में लेकर विजय पताका।
विश्व पर हम लहराएंगे ।।
विश्व शक्ति की चाहत नहीं।
हम विश्व गौरव कहलाएंगे।।

विश्व विजय की चाहत नहीं हैं
हम विश्व गुरू कहलायेंगें।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *