Crime Entertainment Health Politics

लॉकडाउन में खाना बांटने के बहाने संस्था वालों ने लूट लिए ७ करोड़ रुपये के गहने

लॉकडाउन में खाना बांटने के बहाने संस्था वालों ने लूट लिए ७ करोड़ रुपये के गहने

 संस्था बीएमसी के ठेकेदार सहित सात गिरफ्तार

मुंबई – इंद्रदेव पांडे

महाराष्ट्र में लॉकडाउन के दौरान खाना बांटने की अनुमति लेकर एक एनजीओ ने गिरोह बनाकर अंधेरी स्थित गहनों की दुकान से सात करोड़ रुपये के गहने लूट लिए. पुलिस ने एनजीओ के प्रमुख को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस उपायुक्त अंकित गोयल ने फाइट अगेंस्ट क्रिमिनल के पत्रकार को बताया कि शहर के एकता फाउंडेशन के अध्यक्ष विपुल आनंद चामरिया (35) को छह अन्य लोगों के साथ सोमवार को गिरफ्तार किया गया था और उनके पास से पांच करोड़ 30 लाख रुपये बरामद हुए.

एमआईडीसी पुलिस थाने के एक अधिकारी ने कहा, लॉकडाउन के दौरान 22 अप्रैल को, राजकुमार लूथरा ने शिकायत दर्ज कराई कि उनकी आभूषणों की दुकान में गैस कटर का उपयोग करके छत से सेंध लगाकर सात करोड़ रुपये के गहने चोरी हो गए. पुलिस की तीन टीमों द्वारा आसपास के क्षेत्र में रहने वाले कई लोगों से पूछताछ करने के बाद हमने चामरिया को पकड़ा. उसके पास लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंदों को भोजन वितरित करने की अनुमति थी.

दुकान के बारे में जानकारी एकत्र करने के बाद वह छह साथियों सहित आया और दुकान लूट ली. उनमें से चार एनजीओ में काम करते हैं. अन्य लोगों की पहचान शेयरधारक देसमान छोटेलाल चौहान, सुरक्षा गार्ड मुन्ना खरवार, और चामरिया के एनजीओ कर्मी लक्ष्मण नरसप्पा दांडु, शंकर कुमार यशु, राजेश मरपक्का और विकास चनावड़ी के रूप में हुई है.

मुंबई में बढ़ते मामलों को देखते हुए अभी लॉकडाउन की स्थिति साफ़ नहीं हुई है. महाराष्ट्र सरकार ने संकेत दिए हैं कि कुछ प्रमुख शहरों में लॉकडाउन बढ़ाया जा सकता है जहां कोरोना वायरस महामारी की स्थिति अभी नियंत्रित नहीं हो पायी है. गृहमंत्री अनिल देशमुख ने सोमवार को कहा था कि राज्य में रेड जोन के रूप में चिह्नित सबसे अधिक संक्रमित स्थानों पर लॉकडाउन को 3 मई से आगे बढ़ाया जा सकता है. हालांकि, उन्होंने कहा कि इस पर अंतिम फैसला मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *