Entertainment

फिल्म इंडस्ट्री आर्थिक पैकेज से क्यू अछूता क्यू कर रही है सरकार इनकी उपेक्षा : सुरजीत सिंह

फिल्म इंडस्ट्री आर्थिक पैकेज से क्यू अछूता क्यू कर रही है सरकार इनकी उपेक्षा : सुरजीत सिंह


(संवाददाता लियाकत शाह)
मुंबई : महामारी की आपदाकाल में केंद्र और राज्य सरकार पूरी तरह से कमर कसकर कोरोना महामरी से लड़ने के लिए दिन रात अनवरत प्रयासरत है। आज तृतीय चरण की ताला बंदी का अंतिम दिन है और चौथे चरण की तालाबंदी के लिए भी नियमावली घोषित कर दी गई है १८ से ३१ मई तक ताला बंदी को सुचारू रखा जाएगा।

कोरोना महामारी से उपजे संकट काल में हर वर्ग को काफी परेशानियों का सामना करना पड रहा है। देश का आर्थिक ढांचा भी कमजोर हो गया है। जिसको फिर से पटरी पे लेन के लिए केंद्र ने लगभग हर औद्योगिक क्षेत्र को नियम और शर्तो के आधार पर पुनः चालू करने का अवसर दिया है।

लेकिन सरकारों को भारी भरकम कर देने वाली फिल्म उद्योग की सरकार ने उपेक्षा की है। इस इंडस्ट्री ने भारत सरकार को हर वर्ष एक अच्छा कर देती है लेकिन संकट के इस काल में सरकार इस इंड्रस्ट्री की और ध्यान नहीं दे रही है। आज घर में लोग रहकर सिर्फ टेलीविजन या अन्य डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से मनोरंजन कर रहे है और अपने अपने घरो में है।

आज रोड पर वही लोग है जिनको खाने और रहने की असुविधा है इनमे से सिर्फ मजदूर ही नहीं है इनमे इस इंड्रस्ट्री के लगभग साठ प्रतिशत लोग है। फिल्म इंड्रस्ट्री ने पिछले वर्ष लगभग १३,००० करोड़ की कमाई की थी फिल्म इंड्रस्ट्री के कामगार नेता सुरजीत सिंह ने इस पर पत्र लिखकर सरकार को समस्याओ से अवगत कराया था लेकिन इस बार भी निराशा ही हाथ लगी है।

सभी सरकारों को इस इंड्रस्ट्री के कामगारों को भी इसी देश का नागरिक समझना चाहिए और इनके परिवारों का भी कष्ट भी समझना चाहिए इनके उत्थान के लिए भी योजना बद्ध तरीके से इस इंड्रस्ट्री को चालू करने की पहल करनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *