Entertainment Health Politics

रौल बैक इस्टेट, ऑनलाइन क्लास और तेज इंटरनेट, ट्यूशन फीस माफ करने को ले राष्ट्रव्यापी प्रतिरोध दिवस – आइसा

रौल बैक इस्टेट, ऑनलाइन क्लास और तेज इंटरनेट, ट्यूशन फीस माफ करने को ले राष्ट्रव्यापी प्रतिरोध दिवस – आइसा

शिक्षा रोजगार के लिए लॉकडाउन बाद होगा मजबूत आंदोलन – प्रीति

इस्टेट परीक्षा को बहाल करो या अभिलंब इस्टेट परीक्षा की तिथि घोषित करो – आइसा

समस्तीपुर (जकी अहमद)

आज आइसा कार्यकर्ताओं ने शहर के काशीपुर में लॉकडाउन का पालन करते हुए अपनी आवास से हाथों में मांगो से लिखी तख्तियां के साथ धरना देकर राष्ट्रीय प्रतिरोध दिवस मनाया l वही आइसा के प्रदेश उपाध्यक्ष सुनील कुमार ने कहा कि प्रदेश में 8 साल बाद माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन हुआ और परीक्षा परिणाम घोषित करने की तिथि जारी कर परीक्षा रद्द करना छात्रों एवं शिक्षित बेरोजगार बीएड धारियों छात्र के भविष्य के साथ सरकार खिलवाड़ कर रही है इससे पूर्व प्राथमिक शिक्षक नियोजन भी छात्रों से आवेदन लेकर अंत में रद्द कर दिया गयाl

जिससे छात्रों में मात्र एस्टेट परीक्षा ही शिक्षक बनने की आशा लेकर उभरी थीl बिहार बोर्ड और सरकार से श्री कुमार ने धरना के माध्यम से मांग किया है कि इस्टेट परीक्षा को पुनः बहाल करो या जुलाई में जैसे भौतिक दूरी का ध्यान रखते हुए सीबीएसई परीक्षा का आयोजन होना है

वैसे ही स्टेट परीक्षा का आयोजन कर अभिलंब परिणाम घोषित करे और खाली पड़े शिक्षकों की पद पर बहाली हो. विदित हो कि पूरे प्रदेश में प्राथमिक से माध्य विद्यालय और मध्य विद्यालय से उच्च विद्यालय में 2950 हाई स्कूल को उत्क्रमित किया गया है अकेले समस्तीपुर में 177 हाई स्कूल उत्क्रमित किया गया है

इन छात्रों का गुणवतापूर्ण पढ़ाई कैसे होगाl कभी सरकार रिटायर शिक्षकों से पढ़बाने की चर्चा करती है तो अब समंजन विधि लागू कर हाई स्कूलों में शिक्षक पूर्ति करने की ढोंग कर इस बहाली को तत्काल टालने की प्रयास में है जिसे सरकार को कामयाब होने नहीं देंगे लॉकडाउन के बाद सड़क पर मजबूत आंदोलन होगा l

वही जिला सचिव प्रीति कुमारी ने कहा कि पीएम के घोषणा पैकेज में छात्रों के लिए एक भी पैसा की घोषणा नहीं है जो सरकार के मानसिकता को दर्शाता है सरकार से सत्र 2018- 19 के पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति अभिलंब छात्रों को भुगतान करने की मांग की है. क्योंकि छात्रों एवं अभिभावकों का करोना महामारी के कारण आर्थिक संकट है.

वहीं जिला उपाध्यक्ष मनीषा कुमारी ने कहा कि राजधानी पटना समेत सभी जिलों में जो छात्र रूम लेकर पढ़ाई कर रहे हैं उनका रेट सरकार द्वारा भरपाई की जाए, ट्यूशन फीस, ऑनलाइन क्लास, स्मार्टफोन, तेज इंटरनेट की बुनियादी सुविधा देने की मांग की है.।
वहीं धरना में उपस्थित आइसा जिला कमेटी सदस्य द्रख्शा जवी एवं स्तुति सिंह ने छात्रों के शिक्षा ऋण माफ करने की मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *