Crime Politics

मुंबई क्राइम ब्रांच यूनिट 9 ने ओशिवारा पुलिस की नाक के नीचे चल रहे अवैध कॉल सेंटर का किया भंडाफोड़ गिरोह के दो लोगो को किया गिरफ्तार

मुंबई क्राइम ब्रांच यूनिट 9 ने ओशिवारा पुलिस की नाक के नीचे चल रहे अवैध कॉल सेंटर का किया भंडाफोड़ गिरोह के दो लोगो को किया गिरफ्तार

मुंबई – इंद्रदेव पांडेय

‘लुमीनेशन’ नाम से वायरस क्लिनर साॅफ्टवेयर बेचने का झांसा देकर विदेशी नागरिकों के साथ धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश मुंबई क्राइम ब्रांच ने किया है | गिरोह के दो लोगो को गिरफ्तार किया है |

मुंबई क्राइम ब्रांच यूनिट 9 ने मैत्रय महेश परब (21), वकार दयान अंसारी (35) को गिरफ्तार किया है | क्राइम ब्रांच को गुप्त सूचना मिली कि अंधेरी के ओशिवरा इलाके के आदर्श नगर स्थित अन्नपूर्णा अपार्टमेंट के छठवीं मंजिल पर फ्लैट नंबर-601 बी में अवैध रूप से एक काॅल सेंटर चल रहा है. इस कॉल सेंटर के जरिए विदेशी नागरिकों को झांसा देकर उनके साथ आन लाइन फ्राॅड किया जा रहा है |

संयुक्त पुलिस आयुक्त संजय रस्तोगी और पुलिस उपायुक्त अकबर पठान के मार्गदर्शन में क्राइम ब्रांच यूनिट-9 के प्रभारी पुलिस निरीक्षक महेश देसाई, पुलिस निरीक्षक संजीव गावडे, सहायक पुलिस निरीक्षक सुधीर जाधव, शरद धराडे, सिपाही महांगडे की टीम ने ओशिवरा के अन्नपूर्णा अपार्टमेंट के एक फ्लैट पर छापा मारा. यहां से 2 लोगों को गिरफ्तार किया गया | उनके पास से लैपटॉप, 11 हार्डडिस्क, 1 सर्वर, 2 मोबाइल, मेमोरी कार्ड और वायफाय राऊटर जब्त किया गया है | इस गोरखधंधे का मास्टर माइंड परब है, जिसे अंसारी ने जगह मुहैया करवाया था |

आरोपी विदेशी नागरिकों को पर्सनल डाॅटा हासिल कर उनसे वायस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल (वीओआयपी) के जरिए संपर्क करते थे | वे उन्हें ‘ लुमीनेशन ‘ नाम से वायरस क्लिनर साॅफ्टवेयर बेचने का झांसा देते थे |

विदेशी नागरिकों से साॅफ्टवेयर प्राप्त करने के लिए फॉरेन करेंसी की मांग करते थे | आरोपी फॉरेन करेंसी को बदलकर रुपए प्राप्त करते थे | यह काॅल सेंटर रात में चलता था | इसमें कुछ और आरोपियों के शामिल होने का अंदेशा है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *