Bihar Health Maharashtra National Politics Social States

लोजपा सांसद प्रिंस राज ने पीएम से समस्तीपुर में उद्योग लगाने की रखी मांग- उमाशंकर मिश्रा

लोजपा सांसद प्रिंस राज ने पीएम से समस्तीपुर में उद्योग लगाने की रखी मांग- उमाशंकर मिश्रा

समस्तीपुर( जकी अहमद)

समस्तीपुर लोकसभा क्षेत्र से सांसद सह लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष प्रिंस राज ने अपने संसदीय क्षेत्र में कोरोना काल मे दूसरे प्रदेशों से लौट कर आये प्रवासी मजदूरों और स्थानीय लोगों को रोजगार मिले इसको लेकर उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित सीएम और कई मंत्रियों को पत्र लिखते हुए कहा है 11 सूत्री सुझाव के साथ मांग करते हुये उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र समस्तीपुर अंतर्गत समस्तीपुर एवं दरभंगा जिला की ओर ध्यान आकृष्ट कराते हुए कहा कि समस्तीपुर संसदीय क्षेत्र कृषि के मामले में संपन्न होने के साथ ही औद्योगिक दृष्टि की संभावनाओं से भी भरा हुआ था। यही कारण रहा है कि तीन दशक पहले यहां तो चीनी मिल दो पेपर मिल एक जूट मिल लाभ के साथ संचालित हो रहे थे। लेकिन तत्कालीन सरकारों के उदासीन रवैयों के कारण सारे उद्योग कारखाने आदि या तो बंद हो गए या घाटे में चल रहे थे। वर्तमान की संभावनाओं को देखते हुए इस क्षेत्र में कृषि आधारित उद्योगों को स्थापित करने से किसान और मजदूरों दोनों को ही इसका लाभ मिलेगा। यह क्षेत्र उद्योग के लिए अनुकूल भी है। सांसद प्रिंस राज ने पीएम को लिखे पत्र में मांग करते हुए कहा है कि किसी भी उद्योग के लिए परिवहन का साधन आवश्यक है। इस दृष्टि से यह क्षेत्र रेल सड़क एवं हवाई मार्ग से जुड़ा है। राष्ट्रीय राजमार्ग के गुजरने के कारण कई राज्यों से सीधा जुड़ाव है। दरभंगा जंक्शन ही निकत्तास्ट ही है। यह क्षेत्र श्रम संसाधन की दृष्टि से सबसे धनी हैं। यहां हर क्षेत्र में प्रतिभाशाली युवक को और कुशल श्रमिकों की उपलब्धता सहज है। ऊर्जा किसी भी उद्योग के लिए बिजली आवश्यक हैं। ऊर्जा के मामले में यह क्षेत्र आत्मनिर्भर है। बरौनी एवं कांटी थर्मल पावर निकट ही है। कच्चा माल कृषि आधारित उद्योग के लिए लगभग सभी प्रकार के कच्चे माल की उपलब्धता है यहां हर लगभग सभी प्रकार के कृषि फसलों की पैदावार होती है। विशेषकर यह क्षेत्र दूध, मसाला, दलहन, तिलहन, गन्ना, बांस एवं मखाना समेत कई ऐसे फसलों एवं वस्तुओं का उत्पादक है जिस पर उद्योगों की स्थापना की संभावना है। यह क्षेत्र जनसंख्या के सर्वाधिक घनत्व वाला क्षेत्र हैं यहां बहुत बड़ा उपभोक्ता का क्षेत्र है। अशोक पेपर मिल का हायाघाट प्रखंड के दरभंगा जिला में लगभग 425 एकड़ जमीन है। जिसमें 400 एकर भूखंड खाली पड़ा हुआ है। जिसे अधिग्रहित कर यहां पर पेपर मिल एवं चीनी मिल अथवा एक ही परिसर में बहुत बड़े से औद्योगिक प्रांगण का निर्माण किया जा सकता है। विभिन्न प्रकार के उद्योगों की स्थापना की जा सकती है। इस उद्योग के लिए कच्चा माल श्रमिक समेत सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध है। समस्तीपुर जिला मुख्यालय स्थित सरकारी चीनी मिल दशकों से बंद है। इसे फिर से चलाए जाने की दिशा में ठोस कदम उठाए जाने की आवश्यकता है। इससे यहां के गन्ना उत्पादक किसानों के साथ प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से हजारों लोगों को रोजगार मिल सकेगा। समस्तीपुर जिला के अंतर्गत रोसड़ा जो बिहार का प्राचीन व्यवसायिक शहर रहा है। बूढ़ी गंडक नदी के किनारे अवस्थित यह रेल और सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है। यहां दूध मसाला एवं फल आधारित उद्योग लगाने की भारी संभावना है जिससे क्षेत्र राज्य का हित होगा। क्षेत्र में कई स्थानों पर कई एकड़ जमीन कृषि फार्म के रूप में अधिसूचित हैं इन भूखंडों में बीज एवं खाद्य प्रसंस्करण पर आधारित उद्योगों की स्थापना की जा सकती है। अशोक पेपर मिल परिसर में उपलब्ध पर्याप्त भूमि पर चीनी मिल एवं पेपर मिल स्थापित हो सकता है। हरपुर ऐलॉथ औद्योगिक प्रांगण में बंद पड़े छोटे मझोले उद्योगों के लगाने की अपार संभावनाएं हैं। सांसद प्रिंस ने पीएम से अनुरोध किया है कि इस क्षेत्र में संसाधनों की उपलब्धता के साथ ही आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए क्षेत्र में उद्योगों की स्थापना प्राथमिकता के आधार किया जाये। ऐसा होने कोरोना काल मे बेरोजगार हुये प्रवासी मजदूरों को रोजगार मिल जायेगा जिससे मजदूरों के साथ साथ राज्य एवं देश की अर्थव्यवस्था को फायदा पहुंचेगा। लोजपा सांसद प्रिंस राज़ द्वारा औधोगिक क्षेत्र में उधोग लगाने से संबंधित पीएम को मांग पत्र लिखने पर एनडीए कार्यकर्ताओं के साथ साथ मीडिया प्रभारी उमाशंकर मिश्रा ने बधाई दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *