Health Social States Uttar Pradesh

जलालाबाद मदरसा मिफ्ता उल उलूम के मोहतमिम मौलाना हफीउल्लाह खान का इन्तिक़ाल।

जलालाबाद मदरसा मिफ्ता उल उलूम के मोहतमिम मौलाना हफीउल्लाह खान का इन्तिक़ाल।


——————
जलालाबाद, शामली,( उत्तर प्रदेश,ज़ीशान काज़मी)
जनपद शामली के कस्बा जलालाबाद स्तिथ प्रसिद्ध शिक्षण संस्था,मदरसा मिफ्ता उल उलूम के मोहतमिम प्रबंधक,हज़रत मौलाना हफीउल्लाह खान शेरवानी का इन्तिक़ाल हो गया।ये खबर जैसे ही कस्बा एवम क्षेत्र में फैली लोगो मे रज ओ गम का माहौल हो गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मदरसा प्रबंधक हफीउल्लाह खान विगत हफ्ते से बीमार चल रहे थे,जिसके चलते उनका इन्तिक़ाल हो गया। उनके इन्तिक़ाल की खबर पर किसी को यकीन ही नही हो रहा था। एक दूसरे से फोन पर राब्ता कर रहे थे,जब हकीकत सामने आई तो हर कोई सकते में था,कस्बे के लोग उनके आवास पर पहुंचे ।
गौर तलब है कि कस्बे की आलमी सतह की मारूफ़ शख़्सियत,बुजुर्ग,हज़रत मौलाना मसिउल्लाह खान शेरवानी (र0 ) ने इस मदरसे की काफी अर्से तक खिदमात पेश,हज़रत के इन्तिक़ाल 13 नवम्बर1992 के बाद उनके साहबज़ादे हज़रत सफीउल्लाह खान उर्फ भाईजान ने अपने फ़र्ज़ को अंजाम दिया।भाईजान 2 मार्च 2012 को इस दुनिया से अलविदा कह गए। उनके बाद हज़रत मसिउल्लाह खान, र0 के पोते, हज़रत भाईजान के बड़े साहबज़ादे,हज़रत हफीउल्लाह खान, ने इस विरासत को सँजोकर कर अपना फर्ज अदा करते रहे ।
मौलाना हफीउल्ला खान विगत हफ्ते से बीमार हो गए,ओर आज 10 जुलाई2020 को इस दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह गए। उनके इन्तिक़ाल की खबर सुनकर राजनेतिक, सामाजिक, धार्मिक हलकों में गहरा रंजो गम है।मरहूम की मग़फ़िरत के लिए, जन्नत में आला मुकाम हासिल हो दुवाये की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *