Crime Entertainment Health International Maharashtra National Politics Social

“‘ गैंग्स ऑफ रेलवे टेंडर” का मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ११ के अधिकारियों ने किया भंडाफोड़

“‘ गैंग्स ऑफ रेलवे टेंडर” का मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ११ के अधिकारियों ने किया भंडाफोड़

अब तक कर चुके थे पौने तीन करोड़ रुपये का घोटाला हुए तीन गिरफ्तार

मुंबई – इंद्रदेव पांडे

आरोपियों ने रेलवे के फर्जी टेंडर निकाले और कुछ दिनों बाद शिकायतकर्ता को बताया कि उसके पक्ष में टेंडर पास भी हो गए हैं। इस बहाने आरोपियों ने शिकायतकर्ता से 2 करोड़ 73 लाख करोड़ रुपये ले लिए।

कांदिवली क्राइम ब्रांच ने रेलवे टेंडर के नाम पर बड़ा घोटाला करने वाले रैकेट का भंडाफोड़ किया है। डीसीपी अकबर पठान ने बताया कि इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

इस केस में जो शिकायतकर्ता है, वह बीएमसी और सूरत नगरपालिका के अलग-अलग कामों के टेंडर लेता रहता है। इस बार एक आदमी ने उसे रेलवे के हार्स पाइप टेंडर के बारे में बताया। इसमें दो डिब्बों को जोड़ने का काम होता है। जब शिकायतकर्ता तैयार हो गया, तो आरोपियों ने रेलवे के फर्जी टेंडर निकाले और कुछ दिनों बाद शिकायतकर्ता को बताया कि उसके पक्ष में टेंडर पास भी हो गए हैं। इस बहाने आरोपियों ने शिकायतकर्ता से 2 करोड़ 73 लाख करोड़ रुपये ले लिए। जब शिकायतकर्ता ने हार्स पाइप मांगे, तो कहा कि सीधे रेलवे को पहुंचा दिए जाएंगे। लेकिन ऐसा हुआ नहीं। जब शिकायतकर्ता को इस घोटाले का पता चला, तो उन्होंने सीनियर इंस्पेक्टर सुनील माने से संपर्क किया। इसके बाद माने ने इंस्पेक्टर शरद झीने, नितिन उतेकर व अन्य अधिकारियों की टीम बनाई। इसी में किरण चौहान, सुभाष सोलंकी और मयूर सोलंकी नामक तीन आरोपी गिरफ्तार हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *