Crime Entertainment Health International Maharashtra National Social States Uncategorized

लॉकडाउन के दौरान दो महीने तक नाबालिग के साथ बलात्कार करने के आरोप में मौसा गिरफ्तार

लॉकडाउन के दौरान दो महीने तक नाबालिग के साथ बलात्कार करने के आरोप में मौसा गिरफ्तार

मुंबई – इंद्रदेव पांडे

भोईवाड़ा पुलिस ने एक 40 वर्षीय व्यक्ति को अपने 17 वर्षीय नाबालिग रिश्तेदार के साथ दो महीने से अधिक समय तक बलात्कार करने के आरोप में गिरफ्तार किया. पुलिस के अनुसार, लड़की लॉकडाउन के दौरान शहर में आई थी, हालांकि, जब वह हाल ही में अपने घर लौटी तो पता चला कि उसका बलात्कार हुआ है. लड़की के माता पिता ने उसे विश्वास में लेकर पूछताछ किया, जिसके बाद उसने खुलासा किया कि उसके मौसा ने कथित तौर पर उसका यौन शोषण किया. अपराध दर्ज होने के बाद उसके मौसा को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस के अनुसार धुले की रहने वाली लड़की लॉकडाउन के दौरान परेल में अपनी मौसी के यहां आई थी, आरोपी जो कि लड़की मौसा है, उसने इसका फायदा उठाया और जब भी परिवार के अन्य सदस्य बाहर जाते वो उसका बलात्कार करता. पुलिस को दिए बयान के अनुसार अगस्त और अक्टूबर के बीच आरोपी ने कई बार उसका शोषण किया

हाल ही में जब लड़की अपने घर लौटी उसने पेट में दर्द की शिकायत की और उसे टेस्ट के लिए डॉक्टर के पास ले जाया गया. परीक्षण के दौरान यह पता चला कि उसका यौन उत्पीड़न किया गया था. उसके माता-पिता ने तब उसे विश्वास में लिया तब उसने अपनी आपबीती सुनाई. अस्पताल के अधिकारियों ने धुले में स्थानीय पुलिस को सचेत किया, जिसने मौसा के खिलाफ जीरो एफआईआर दर्ज की और भोइवाड़ा पुलिस थाने में स्थानांतरित कर दिया क्योंकि अपराध उनके अधिकार क्षेत्र में था.


मंगलवार को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 376 (बलात्कार) के साथ-साथ यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत अपराध दर्ज किया गया था. अपराध के वरिष्ठ निरीक्षक विनोद कांबले ने पंजीकरण की पुष्टि करते हुए कहा, “अपराध दर्ज होने के तुरंत बाद हमने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और हमारी जांच चल रही है”.

लड़की ने पुलिस को बताया कि, उसके मौसा ने उसे बताया कि उसने पहली बार उसका यौन शोषण करते हुए वीडियो शूट किया है और किसी को बताने पर उसे सर्कुलेट करने की धमकी दी थी. एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि हम उसके दावे की पुष्टि कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *