Crime Health Maharashtra National Social States Uncategorized

शादी का झांसा देकर प्रेमी सहित भाई दोनो ही करते थे २३ वर्षीय महिला के साथ बलात्कार ओशिवारा पुलिस ने दर्ज की एफआईआर

शादी का झांसा देकर प्रेमी सहित भाई दोनो ही करते थे २३ वर्षीय महिला के साथ बलात्कार ओशिवारा पुलिस ने दर्ज की एफआईआर

मुंबई – इंद्रदेव पांडे

मुंबई के ओशिवारा पुलिस ने एक २३ वर्षीय महिला के बयान दर्ज करने के बाद महिला के प्रेमी सहित प्रेमी के भाई पर बलात्कार ,मारपीट, गालीगलौज, ठगी, और धमकाने का मामला दर्ज किया है.

वही महिला ने पुलिस को अपने बयान में बताया कि उसकी दोस्ती साल 2018 में मार्च के महीने में सोशल मीडिया के माध्यम से अजय दशरथ हरिजन नामक व्यक्ति से फ़ेसबुक और इंस्टाग्राम के जरिए हुई थी जिसके बाद अजय ने पीड़ित महिला का मोबाइल नंबर एक संदेश के जरिए मंगा और पीड़ित महिला ने अपना नंबर अजय नामक व्यक्ति के दे दिया था.

जिसके बाद अजय और पीड़ित महिला एक दूसरे से संपर्क में आ गए और दिनांक १०/६/२०१८ में अजय ने पीड़ित महिला को संपर्क कर गोरेगांव पश्चिम राम मंदिर स्टेशन पर मिलने के लिए बुलाया और फिर दोनों मिलने के बाद जुहू बीच घूमने के लिए गए थे.

जुहू बीच पर अजय ने पीड़ित महिला से अपने प्यार का इजहार किया और अपने जाल में फसा लिया जिसके बाद दोनों एक दूसरे से प्यार करने लगे वही अजय ने पीड़ित महिला को प्यार झांसे में लेकर उसे शादी का भी झांसा देने लगा जिसके बाद साल 2019 में अजय ने पीड़ित महिला को अपने परिवार वालो से मिलवाया. मिलवाने के बाद अजय ने अपना बिजनेस शुरू करने के लिए पीडित महिला से 50 हज़ार रुपए की मांग की पीड़िता के पास पैसे ना होने के कारण पीड़िता ने पर्सनल लोन निकलवाकर अपने प्रेमी यानी कि आरोपी अजय दशरथ हरिजन को दे दिया था.

फिर साल 2020 अप्रैल के महीने में पीड़िता ने अजय से बिजनेस के बारे मे पूछताछ की तो अजय ने बताया कि उसे बिजनेस में लॉस हो गया है जिसके बाद दोनों में कहा सुनी हुई और हाथापाई तक की नौबत आ गई . मगर अजय पर पीड़िता को पूरा भरोसा था कि वह उसे सच्चा प्यार करता है और उससे शादी करने वाला है.

जिसके बाद साल 2029 जून के महीने में पीड़ित महिला अपने घर से भाग कर अपने प्रेमी अजय दशरथ हरिजन के घर गोरेगांव पश्चिम भगत सिंह नगर पहुंच गई थी.

जिसके बाद पीड़ित महिला महिला अजय के साथ उसके घर रहने लगी पर पीडित महिला को यह पता नहीं था कि अजय का भाई विजय दशरथ हरिजन की उस पर बुरी नजर थी.वही साल २०२० में विजय की नौकरी चले जाने के कारण वह अपने भाई अजय के घर आना जाना शुर कर दिया और काफी समय तक रुका रहता था जिसके चलते पीड़ित महिला और उसके प्रेमी अजय के भाई से बातचीत शुरू करने लगा पर पीडित महिला को यह नहीं पता था कि विजय पर उसकी बुरी नजर है.

फिर साल 2020 अगस्त के महीने में अजय और उनके परिवार के सदस्य कुछ काम के लिए बाहर गए हुए थे और पीडित महिला घर पर अकेले ही थी. अकेले पन का फायदा उठाकर अजय के भाई ने पीड़ित महिला के साथ जबरन बलात्कार किया और फिर धमकार चला गया जिसके बाद पीडित महिला ने आपबीती विजय की पत्नी को बताया मगर विजय की पत्नी पीड़िता की बात पर भरोसा नहीं हुआ

जिसके बाद साल 2020 सितंबर महीने में पीडित महिला के साथ साथ मारपीट और गालीगलौज किया जिसकी शिकायत पीडित महिला ने पुलिस में मामला दर्ज कराया था जिस पर पुलिस ने विजय के खिलाफ धारा 323,504,506, के तहत मामला दर्ज कर लिया था.

अपने आप को ठगा महसूस कर पीडित महिला ने ओशिवारा पुलिस स्टेशन में लिखित रूप से शिकायत दर्ज कराई थी. जिसके दिनांक 2/12/2020 के दिन ओशिवारा पुलिस ने पीड़ित महिला का बयान दर्ज कर आरोपी अजय दशरथ हरिजन और विजय दशरथ हरिजन के खिलाफ भारतीय दंड कानून सहित आईपीसी की धारा 376, (बलात्कार) 376 (२) (जबरन बलात्कार ) 417 (ठगी) 323 (मारपीट और गालीगलौज) 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान)और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत जीरो जीरो एफआईआर दर्ज कर गोरेगांव पश्चिम बंगुर नगर पुलिस स्टेशन को सौप दिया आगे की मामले की जाँच बंगुर नगर पुलिस स्टेशन के अधिकारी कर रहे हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *