Crime Education Entertainment Health International Maharashtra National Politics Social States Uncategorized

महाराष्ट्र शासन आरे एनर्जी दुध केंद्र वर्ली डेयरी दुग्ध शाला के सभी आधिकारी लॉकडाउन के समय पर भी कर रहे है। आरे सेंटर संचालको पर अत्याचार।

महाराष्ट्र शासन आरे एनर्जी दुध केंद्र वर्ली डेयरी दुग्ध शाला के सभी आधिकारी लॉकडाउन के समय पर भी कर रहे है। आरे सेंटर संचालको पर अत्याचार।

मुंबई अजय कुमार

छीन रहे है संचालको से उन की रोजी-रोटी कर रहे है सभी मुंबई महाराष्ट्र शासन आरे सेंटर को (सील) चलिए हम आपको को आरे सेंटर संचालको के माध्यम से बताते है की पुरी वाक्या क्या है। और संचालको का क्या कहेना है। चलिए अएसे मे घाटकोपर वेस्ट से चिराग नगर, एल – बी- एस रोड नेवी समग्री भवन के सामने आरे सेंटर क्रमांक झेड 1479 – 1480 ये क्रमांक की एक और समस्या सामने आइ है दुध एनर्जी संचालक का कहेना है। की हम आप को बताते है। पिछले सन् 1975 से महाराष्ट्र शासन आरे दुग्ध शाला एनर्जी केंद्र से जुड़े हुए है पहले मेरी माँ मरियम सिराजूदिन शेख, इस आरे सेंटर पर बैठ कर महाराष्ट्र शासन आरे दुध बेचा करती थी अपना और अपने परिवार का भरण-पोषण करती थी।अब तो कुछ सालो पहले माँ के गुजर जाने के बाद से मै इस आरे सेंटर को सम्भालता दुध बेचा करता अन्य आरे के हर प्रोडक्ट बेचता और जैसे तैसे करके अपना और अपने परिवार का भरण-पोषण करता साथ ही साथ मेरे घर के बाजु का एक गोर गरीब गरजू दिव्यांग व्यक्ती अजय कुमार को अपने साथ रखता हु ताकि उस गरीब का भी मेरे इस महाराष्ट्र शासन आरे एनर्जी दुध केंद्र की वजह से उस गरीब गरजू दिव्यांग व्यक्ती का भी पालन पोषण चल सके। जब हमे वर्ली आरे डेयरी दुग्ध शाला के आधिकारीयो ने हमारे सेंटर को सील करने की नोटिस भेजी तो हम सभी घाटकोपर वेस्ट चिराग दो चार सेंटर संचालको ने आधिकारियो से पुछा की। आप हमरा आरे सेंटर को सील कर देंगे तो हम जाऐंगे कहाँ और हम सब रोड पर आ जाएँगे हमारी रोजी-रोटी कैसे चलेंगी तो वहाँ के वर्ली डेयरी आरे दुग्ध शाला के आधिकारीयो ने जवाब दिया। और बोले की नोटिस मे साफ साफ लिखा हुआ है। की आप सभी सेंटर संचालको हर दिन महाराष्ट्र आरे दुध 20 लिटर लेना ही होगा नही तो हमे मजबूरन आप लोगो का आरे सेंटर सील करना ही पड़ेगा।।पर एसे मे आरे सेंटर संचालको का कहेना है की अब लॉकडाउन का समय चल रहा है और आरे दुध की बिक्री पहले से बहोत कम हो चुकी है क्योंकि मार्केट मे अन्य प्रकारो के दुध की कोलेटी आ गई है जैसे की अमूल, गोकुल, प्रभात, मदर डेयरी,अन्य और पता नही कौन कौन सी कम्पनी के दुध का व्यवसाय चालू हो गया है। इसलिए हम आरे सेंटर संचालको से महाराष्ट्र शासन आरे दुध को कोई भी ग्राहक खरीदता नही है क्योंकि की ग्राहको का कहेना है की आरे दुध मे कोई भी कोलेटी नही है और दुध जल्दी फट जाता या खराब हो जाता है। लॉकडाउन का समय है आधे से ज्यादा ग्राहक लोग गाँव जा चुके है। इसलिए हम आरे सेंटर के संचालक महाराष्ट्र शासन आरे दुध को खरीदना बंद कर दिए थे क्योंकि हमें बहोत ज्यादा नुकसान होता है जिससे हम हमरा घर चलाने मे असक्षम हो जाते है हर दिन हमे दुध को फेंकना पड़ता पर अब क्या करे और क्या ना करे ये वर्ली आरे डेयरी दुग्ध शाला के आधिकारी हमारी एक भी नही सुन रहे है। अब एसे मे हम आरे सेंटर संचालक कहाँ जाए और क्या करे सेंटरो और स्टॉल पर लगा रहे है सील हम सब संचालको की हाथ जोड़कर प्राथना माननिय मुख्यमंत्री श्री उद्धव ठाकरे साहेब जी से कृपा करके हम गोर गरीब गरजू संचालको के स्टॉल पर से सील ना लगने दिया जाए और जिस स्टॉल पर सिल लग चुकी है उन्हे जल्द से जल्द उसे निकलवा दिया जाए आपका अपना अजय कुमार मों नं 8369880044

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *