International National Social States Uncategorized Uttar Pradesh

जलालाबाद मदरसा एम0आर0 ग्लोबल अकेडमी में,मौलाना रिज़वान,मौलाना इस्माइल अफ्रीकी के रिसाले सवाब के लिए दुवाएँ मगफिरत की गई।

जलालाबाद मदरसा एम0आर0 ग्लोबल अकेडमी में,मौलाना रिज़वान,मौलाना इस्माइल अफ्रीकी के रिसाले सवाब के लिए दुवाएँ मगफिरत की गई।


शामली/ उत्तर प्रदेश( ज़ीशान काज़मी)
प्राप्त जानकारी के अनुसार शामली जनपद के कस्बा जलालाबाद स्तिथ मदरसा एम0 आर0 ग्लोबल अकेडमी में,मशहूर शेखुल हदीस,हज़रत मौलाना रिज़वान रह0 ,मौलाना मो0 इस्माइल के इन्तिकाल के बाद उनको रिसाले सवाब के लिए,कुरान की तिलावत,दुवाएँ मगफिरत की गई।
संस्था के प्रबंधक सैयद वजाहत मियाँ ने बताया कि गुजिश्ता दिनों प्रसिद्ध शिक्षण संस्था मदरसा मिफ्ता उल उलूम के शेखुल हदीस,ओर बुजुर्गाने दीन हज़रत मौलाना मसीउल्लाह खान शेरवानी रह0 से खास निस्बत रखने वाले मौलाना मो0 इस्माइल ,जो कि डरबन अफ्रीका से ताल्लुक रखते थे,इन्तिकाल हो गया था । इनके इन्तिकाल से शिक्षा जगत में गहरा सदमा पहुंचा है ।ये दोनों ही बेहद लाजवाब शख्सियत के मालिक थे।
वजाहत मियां ने इन दोनो की ज़िंदगी पर रोशनी डालते हुए बताया कि शेखुल हदीस मौलाना रिज़वान खुश अख़लाक़ मेहमान नवाज़ थे।उन्होंने अपनी पूरी ज़िंदगी दीनी उलूम को फ़रोग़ देने में गुजार दी।मौलाना इस्माइल अफ्रीकी,जो कि हज़रत वाला के खास रहे,इस घर से खास ताल्लुक रहा,ज़िन्दगी का काफी अरसा हज़रत की खिदमत में हिन्दोस्तान में ही गुजारा।मौलाना इस्माइल मुल्क अफ्रीका के मशहूर आलिम ए दीन में शुमार थे।70 बरस की उम्र में इन्होंने अपने आबाई वतन,डरबन अफ्रीका के अस्पताल में आखरी साँस ली।हमेशा के लिए दुनिया को अलविदा कह गए।
दीनी उलूम को फ़रोग़ देने वालीं अज़ीम शख्सियतों के रिसाले सवाब,दुवाएँ मगफिरत के लिए मदरसा मिफ्ता उल उलूम के मोहतमिम कारी वली उल्लाह शेरवानी, मौलाना मो0 वाकिफ,सैयद वजाहत मियां,ज़ीशान काज़मी, कारी साजिद शेरवानी, मुफ़्ती मो0 फर्रुख शेरवानी,मौलाना अय्यूब,मुफ़्ती महताब,मुफ़्ती फरजान शेरवानी, फैज़ शेरवानी,कारी मो0 माजिद,हाफिज मो0 राशिद, मौलाना वाजिदअली,,ज़ैद अब्बासी,हाफिज मो0 सालिम,कारी मो0 इनाम,दीगर हज़रात ,शामिल क़ाबिल ए ज़िक्र है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *