Bihar Delhi Gujarat Health International Madhya Pradesh Maharashtra National Politics Social States Uncategorized Uttar Pradesh West Bengal

खानदेश के किसान भी दिल्ली आंदोलन में शामिल

खानदेश के किसान भी दिल्ली आंदोलन में शामिल


(संवाददाता लियाकत शाह)
भुसावल दिल्ली में किसानों के आंदोलन का 51 वां दिन है और देश भर से किसान और आदिवासी महिलाएं शनिवार दोपहर गोवा एक्सप्रेस से दिल्ली के लिए रवाना हुवे. इस अवसर पर किसानो ने मोदी सरकार द्वारा पारित किसान विरोधी बिलों के खिलाफ प्रदर्शन करते हुवे रेलवे स्टेशन के पास छत्रपति शिवाजी महाराज के प्रतिमा के पास बिल की होली की गयी. इस अवसर पर लोक संघर्ष मोर्चा के सचिन ढांडे और चंद्रकांत चौधरी ने कहा कि एक हजार किसानो ने भुसावल से कर्नाटक एक्सप्रेस, पंजाब मेल और झेलम एक्सप्रेस से लगभग एक हजार किसानों और आदिवासी महिलाओं और युवाओं को दिल्ली के लिए रवाना किया हुवे है. किसानों और आदिवासियों ने जिले के उसमाली, गढेरा, जमुनिया, हलखेड़ा, लाल गोटा, पाल और अन्य गांवों से कार्यकर्ता, महिलाएं और युवा देश की सीमा पर कड़ाके की ठंड में बैठे हैं और शांतिपूर्ण तरीके से तीन कृषि विरोधी कानूनों को निरस्त करने के लिए आंदोलन कर रहे हैं. उनका समर्थन करने के लिए, लोक संघर्ष मोर्चा के नेतृत्व में खानदेश के लगभग 1200 आदिवासियों, महिलाओं और किसानों ने ट्रेन आरक्षण कराया और शांतिपूर्वक किसान विरोधी आंदोलन में शामिल हो रहे है. जिले के सभी तालुके से किसान जुड़ रहे है जिसमे कल भुसावल, जलगाँव और चालीसगाँव के किसान दिल्ली के लिए प्रस्थान किया है. बता दे की सलीम शेठ चूड़ीवाला और सचिन धांडे ने 15 तारीख को रेलवे स्टेशन के पास छत्रपति शिवाजी महाराज के प्रतिमा के पास कृषि विरोधी और मजदूर विरोधी बिल को जलाया गया. इस अवसर पर लोक संघर्ष मोर्चा के सचिन धांडे, चंद्रकांत चौधरी, हेमंत पाटिल, कामगर के नेता गोटू पाटिल, विल्हेल गाँव के सदस्य, शेख नूरोद्दीन, किरण मिस्त्री, संता भगत, संजय पाटिल आदि उपस्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *