Education Entertainment Health National States Uncategorized Uttar Pradesh

आर्थिक मंदी से उबरने के लिए विश्व को सालो साल प्रतीक्षा करनी होगी- प्राचार्य डॉ एस के त्यागी

आर्थिक मंदी से उबरने के लिए विश्व को सालो साल प्रतीक्षा करनी होगी- प्राचार्य डॉ एस के त्यागी

वैश्विक कोरोना महामारी के प्रभाव,विचार गोष्टी का एल्पाइन कालेज ऑफ एजुकेशन में शानदार आयोजन।

शामली / उत्तर प्रदेश( ज़ीशान काज़मी) प्राप्त जानकारी के अनुसार जनपद शामली के जलालाबाद थाना भवन मार्ग पर स्थित एल्पाइन कॉलेज ऑफ एजुकेशन के सभागार भवन मे एक दिवसीय विचार गोष्टी वैश्विक कोरोना महामारी का अर्थ तंत्र व राजनीति पर प्रभाव विषय को लेकर आयोजन किया गया। जिसमें वक्ताओं ने इस विषय पर विस्तार से प्रकाश डाला।
एक दिवसीय गोष्ठी में वीवी डिग्री कॉलेज शामली से आमंत्रित मुख्य अतिथि डॉक्टर भूपेंद्र ने विचार प्रस्तुत करते बताया कि वैश्विक कोरोना महामारी में पूरे विश्व में राजनीति में उथल- पुथल हुई है। जिन देशों में इस समय में चुनाव आयोजित हुए वहां पर कोरोना महामारी मुख्य मुद्दा रहा। जिस देश की सरकार ने इस ओर लापरवाही बरती वहां की जनता ने मतदान के माध्यम से उस मौजूदा पार्टी की सरकार को हराकर दूसरे दल की सरकार गठित कर संदेश दिया। इसका असर हाल में ही अमेरिका में हुए चुनाव में भी नजर आया। अमेरिका के चुनाव में कोरोना महामारी मुख्य मुद्दा रहा। पूरे विश्व का अर्थ तंत्र भी कोरोना महामारी में प्रभावित हुआ है। आर्थिक मंदी की मार संपूर्ण विश्व में हुई है। इसका असर वर्तमान में दिखाई दे रहा है। कॉलेज निदेशक डॉ अरविंद गुप्ता ने कोरोना महामारी में अर्थ तंत्र व राजनीति के विषय में विचार प्रस्तुत करते बताया की कोरोना महामारी से पहले विश्व के कई देश आर्थिक रूप से मजबूत रहे। इसके बाद विकसित देशों का अर्थ तंत्र भी डगमगा गया। प्राचार्य डॉ सुनील कुमार त्यागी ने अपने विचार प्रस्तुत करते बताया की वैश्विक कोरोनावायरस संपूर्ण मानव जगत के लिए घाटा का सौदा साबित हुई है। विकसित व विकासशील देशों पर पूरी तरह से आर्थिक मंदी का साया छाया है। आर्थिक मंदी से उबरने के लिए पूरे विश्व को सालों साल प्रतीक्षा करनी होगी। कॉलेज के प्रवक्ताओं ने भी गोष्ठी में , भाग लिया। प्रोफेसर विधि शरण ,डॉक्टर बबीता गोयल, ब्रह्मानंद शर्मा, राहुल ठाकुर ,आरती सैनी ,का सहयोग रहा।कार्यक्रम के अंत मे अतिथियों का आभार व्यक्त किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *