Education Entertainment Health International National Social States Uncategorized Uttar Pradesh

बच्चों को दीनी तालीम के साथ दीनी तालीम से आरास्ता करना वक्त की अहम जरूरत है – मौलाना मेवाती

बच्चों को दीनी तालीम के साथ दीनी तालीम से आरास्ता करना वक्त की अहम जरूरत है – मौलाना मेवाती


जलालाबाद, शामली/ ज़ीशान काजमी
प्राप्त जानकारी के अनुसार कस्बा जलालाबाद के मशहूर बुजुर्ग,हजरत मौलाना मसी उल्लाह खान शेरवानी,रह0 के शागिर्द मौलाना मसूद मेवाती मदरसा मिफ्ता उल उलूम के मोहतमिम कारी वली उल्लाह शेरवानी के निवास स्थान पर आठ सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल तालीमी बेदारी को लेकर मौलाना मसूद मेवाती के नेतृत्व में मिला जहां उन्होंने खास मुलाकात कर तालीमी बेदारी को लेकर विशेष चर्चा की ,तालीमी बेदारी प्रतिनिधि मंडल ने मौलाना आरज़ू मियां, प्रमुख समाज सेवी शेर जमा खान ,आदि कस्बे के जिम्मेदार लोगों से मुलाकात कर तालीमी बेदारी,विषय,को लेकर शिक्षा का स्तर केसे ऊंचा हो,आदि पर चर्चा की। प्रतिनिधिमंडल हजरत मौलाना मसी उल्लाह खान शेरवानी के दामाद हजरत मौलाना अब्दुल रहीम के निवास पर पहुंचे जहां पर उनका इस्तकबाल शिक्षण संस्था एम आर ग्लोबल एकेडमी के मैनेजिंग डायरेक्टर वजाहत मियां ने पुरजोश से इस्तकबाल किया । उनके स्वागत में तालीमी बेदारी विषय को लेकर कार्यक्रम का आयोजन हुआ ।कार्यक्रम में प्रमुख वक्ता हरियाणा के मेवात क्षेत्र के समाजसेवी, एवं साउथ अफ्रीका के जोहन्स बर्ग शहर क्षेत्र लेन्स की मस्जिद के पेश इमाम एवं तालीमी बेदारी को लेकर संजीदा रहने वाले समाज सेवी मौलाना मसूद अहमद मेवाती ने प्रमुख वक्ता के रूप में गोष्ठी में तालीमी बेदारी को लेकर अपने खिताब में कहा कि आज के वक्त में दीनी तालीम के साथ-साथ अपने बच्चों को दुनियावी तालीम से भी आरासता किया जाना चाहिए ।जो वक्त की अहम जरूरत है ।मौलाना मसूद मेवाती ने कहा हमारे हिंदुस्तान की सरकार हर मुमकिन कोशिश कर रही है कि तालीम का ग्राफ,स्तर बढ़े, समाज को शिक्षित करने के लिए तरह-तरह की सरकारी स्तर से शिक्षा के क्षेत्र में योजनाएं चला रही हैं। हर शहर को गांव देहात में सरकारी स्कूल और गैर सरकारी स्कूल खुले हुए हैं लेकिन मुस्लिम समाज के बच्चों की संख्या कम है ,अफसोस का मकाम है। इसका कारण यही है कि हमारे समाज में तालीमी बेदारी की कमी है जबकि वक्त कि हम जरूरत है कि अपने बच्चों को प्राइमरी स्तर से उच्च स्तर तक शिक्षा दिलाएं आप एक वक्त का खाना न खाएं मगर अपने बच्चों को दीन , ओर दुनिया की तालीम से जरूर आरस्ता करें। आज के बच्चे शिक्षित होकर ही देश कि सेवा में योगदान दे सकते है।राष्ट्र की मुख्यधारा में जुड़ने का रास्ता खुलेगा समाज शिक्षित होगा शिक्षित होकर ही हम अपने समाज,प्रदेश, देश की सेवा कर सकते हैं।
इस मौके पर मौलाना मुबारक, मौलाना जमील, मौलाना अनवर, कारी माजिद, मास्टर राशिद अली कारी अब्दुल समी, एम आर ग्लोबल एकेडमी के मैनेजिंग डायरेक्टर वजाहत मियां, फैसल मलिक, ज़ीशान काजमी, जेद अब्बासी, हाजी इसरार, जमीयत उलेमा के शामली महासचिव मौलाना अय्यूब, कारी वाकिफ,आदि प्रमुख रूप से शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *