Crime Entertainment Health International Maharashtra National Politics Social States

मुंबई पुलिस को देखते ही मराठी बोलने लगा गैंगस्टर रवि पुजारी, पुजारी ने बोला महाराष्ट्र का खाना खाकर पुराने दिन याद आ गए।

मुंबई पुलिस को देखते ही मराठी बोलने लगा गैंगस्टर रवि पुजारी, पुजारी ने बोला महाराष्ट्र का खाना खाकर पुराने दिन याद आ गए।

मुंबई:-मनोज दुबे(क्राइम रिपोर्टर)

गैंगस्टर रवि पुजारी की कस्टडी मुंबई क्राइम ब्रांच ने ले ली है।डॉन रवि पुजारी का बचपन मुंबई में ही बीता है, इसलिए जब सोमवार को कर्नाटक जेल में उसकी कस्टडी लेने गए मुंबई क्राइम ब्रांच अधिकारी अजय सावंत और सचिन कदम जैसे ही उसके सामने पहुंचे, तो रवि पुजारी उनसे अपने आप ही मराठी में बात करने लगा। क्राइम ब्रांच अधिकारी उस पर हंसे और बोले, ‘अब मराठी बोलने की आदत फिर से डाल लो। अब मुंबई पुलिस के लॉकअप और महाराष्ट्र की जेल में तुम्हें रहना है।’ मुंबई में रवि पुजारी के खिलाफ 78 केस हैं। ज्यादातर केस उगाही के हैं, जिसमें वह सामने वाले को हिंदी, अंग्रेजी में धमकियां दिया करता था।
मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम उसे सड़क के रास्ते कर्नाटक से मुंबई लाने का काम किया है।महाराष्ट्र आने पर जैसे ही गैंगस्टर रवि पुजारी को खाना मिला, उसके मुंह से तुरंत बात निकल पड़ी कि पुराने दिन याद आ गए।
कर्नाटक से मुंबई वाया कोल्हापुर होकर रवि पुजारी को मुंबई लाया गया। कोल्हापुर से जैसे ही वह गुजरा उसने क्राइम ब्रांच टीम से डॉन शरद शेट्टी से जुड़ा किस्सा सुनाया कि वह यहां से इस डॉन के साथ एक बार तिरुपति गया था।
शरद शेट्टी वह डॉन है, जिसने दाऊद और छोटा शकील के कहने पर करीब दो दशक पहले बैंकॉक में छोटा राजन पर हमले की साजिश रची थी। इस साजिश के तहत उस घर में अंधाधुंध गोलियां चलाई गई थीं, जिसमें राजन अपने खास साथी रोहित वर्मा के साथ रह रहा था। रोहित वर्मा उस शूटआउट में मारा गया था, लेकिन राजन उस हमले में घायल होने के बावजूद जिंदा बच गया था। बाद में मुंबई क्राइम ब्रांच सूत्रों का दावा है कि छोटा राजन ने दुबई में शरद शेट्टी का मर्डर करवा दिया था।
कर्नाटक से मुंबई पहुंचने के बाद रवि पुजारी को मंगलवार को पांच साल पुराने गजाली होटल शूटआउट में मकोका कोर्ट में पेश किया गया। सीनियर इंस्पेक्टर सचिन कदम के अनुसार, जज ने उसे 9 मार्च तक क्राइम ब्रांच की कस्टडी में भेज दिया। इस केस में सात आरोपी पहले से ही जेल में हैं।

गजाली विले पार्ले का चर्चित होटल है। 21 अक्टूबर, 2016 को इस होटल के बाहर हेलमेट पहने दो लोग एक बाइक से आए। एक आरोपी बाइक पर ही बैठा रहा, जबकि दूसरा होटल के अंदर काउंटर पर पहुंच गया। उसने काउंटर पर बैठे व्यक्ति को एक चिट दी। कहा, अंदर अपने मालिक को जाकर दे दो कि इस चिट में जो नंबर लिखा है, उस पर डॉन रवि पुजारी से बात करे। जब तक काउंटर पर बैठा व्यक्ति होटल मालिक को फोन लगाता, चिट देने वाले ने गोली चला दी और भाग गया। इस शूटआउट के कुछ वक्त बाद रवि पुजारी का होटल के नंबर पर फोन आया।
ऐसे कई मामले रवि पुजारी पे मुंबई में दर्ज है एक-एक करके सभी केस की जांच अब मुंबई क्राइम ब्रांच रवि पुजारी से करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *