Education Social Uttar Pradesh

थाना भवन की बेटी रमशा अज़ीज़ ने एमबीबीएस में टॉपर बनी,जनपद शामली का किया। नाम रोशन- महिला दिवस पर की गई सम्मानित।

थाना भवन की बेटी रमशा अज़ीज़ ने एमबीबीएस में टॉपर बनी,जनपद शामली का किया। नाम रोशन- महिला दिवस पर की गई सम्मानित।


जलालाबाद,शामली/जीशान काजमी ।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जनपद शामली कस्बा थानाभवन
की होनहार बेटी, छात्रा, बी आर अम्बेडकर यूनिवर्सिटी मेडिकल कालेज,की, एम बी बी एस,टॉपर बन कर रमशा अज़ीज़ ने एक कीर्तिमान रचा है। इस उपलब्धि पर उन्हें 08 मार्च महिला दिवस के अवसर पर नगर पंचायत थाना भवन में होने वाले सम्मान समारोह में सम्मान प्रतीक देकर सम्मानित किया गया।

कस्बा थानाभवन के लिए यह गौरव की बात हैं। कि बेटी डॉक्टर रमशा अज़ीज़ ने डॉ. अम्बेडकर यूनिवर्सिटी से जुड़ी तीनो यूनिवर्सिटी में हाइजेस्ट मार्क्स लाकर टॉपर का खिताब हासिल किया हैं। आज महिला दिवस पर डॉक्टर रमशा अज़ीज़ महिलाओं के लिए प्रेरणा श्रोत रही हैं। अपने विचार रखते हुए डॉक्टर रमशा ने कहा कि मेरी सफलता में गुरुजनो के साथ-साथ मेरी माता का अहम योगदान हैं। उन्होंने हमेशा आगे बढ़ने के लिए मेरा हौसला बढ़ाया हैं। यही कारण हैं। कि मैंने बिना किसी टेन्सन के सदैव एक्टिव रहते हुए नियमित पढ़ाई की। क्योंकि कार्य जब मिशन बन जाये तो शौर्य और प्रतिभा की मिशाल बनते हुए देर नही लगती बस ज़रूरत हैं जूनून की,,।
महिला दिवस पर अधिशासी अधिकारी मेघा गुप्ता व चौधरी अतर सिंह ,श्रीमती नीलम, थाना भवन की चेयरमैन रफत परवीन ने डॉक्टर रमशा अज़ीज़ को सम्मान प्रतीक देकर सम्मानित किया साथ ही साथ थाना भवन की अन्य होनहार व मेधावी छात्राओ को भी सम्मानित किया गया।
आपकी जानकारी के लिए बता दे कि डॉ. रमशा अज़ीज़ के पिता पूर्व चेयरमैन इन्तज़ार अज़ीज़ और मां वर्तमान थाना भवन चेयरमैन रफत परवीन हैं। उनकी होनहार बेटी आगरा में रहकर एफ.एच. मेडिकल कॉलेज से पढ़ाई कर रही थी। खास बात यह है कि डॉ. रमशा को हर विषय में अच्छे अंक मिले हैं। न केवल वह अपनी यूनिवर्सिटी की ओवरऑल टॉपर रहीं, बल्कि तीनो ही यूनिवर्सिटी की ओवरऑल टॉपर रहीं हैं।
ऐसे बनीं टॉपर :- हर विषय की प्लानिंग के साथ बिना गैप की पढ़ाई
डॉक्टर ने अपने सम्बोधन में कहा कि उन्होंने नियमित पढ़ाई की। कभी गैप नहीं किया। हर विषय की प्लानिंग उसके महत्व के हिसाब से की और उतना ही समय उस विषय को दिया जितनी उसे ज़रूरत थी। उसी का नतीजा रहा कि वह टॉपर बनी । बचपन का सपना था, एमबीबीएस कर डॉक्टर बनूं । वह सपना पूरा हो गया। और मैं चाहती हूं। कि हर लड़की का सपना पूरा हो। बस शर्त हैं। कि कोई भी मां-बाप अपनी बेटी को आगे बढ़ने से ना रोके।रमशा अज़ीज़ ने कहा लडकिया उच्च स्तर की तालीम हासिल करे,इन्हे अगर अवसर मिल जाए तो ये समाज एवम देश सेवा में अहम योगदान दे सकती है ये प्रतिभाओं की धनी होती है।
महिला दिवस के अवसर पर रमशा अज़ीज़ सहित, प्रतिभावान,छात्र,छात्राओं, को जलालाबाद के चेयरमैन अब्दुल गफ्फार,पूर्व चेयरमैन अशरफ अली खान,पूर्व चेयरमैन रमा अशरफ खान,प्रमुख समाज सेवी शेर जमा खान, डा सऊद हसन, जिशान काजमी, आरिफ त्यागी, वसीम त्यागी, शहजाद साहिल,एम आर ग्लोबल एकेडमी के मैनेजिंग डायरेक्टर वजाहत मियां, उर्दू मकतब प्रिंसिपल शबाना शावेज़, ब्राइट फ्यूचर प्रिंसिपल, सायमा खान, पूर्व सभासद नरेश शर्मा, लिटिल एंजेल स्कूल के प्रबंधक डॉ विजय जेम्स, शाहनवाज साहिल,सुशील जैन आदि ने मुबारकबाद देते हुए उज्जवल भविष्य की कामना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *