Health Maharashtra National

भुसावल मंडल कार्यालय में भी कोरोना प्रवेश कर चुका

भुसावल मंडल कार्यालय में भी कोरोना प्रवेश कर चुका

लियाकत शाह
(संवाददाता लियाकत शाह)

कोरोना की दूसरी लहर का कहेर पुरे जिले में सर चढ़ कर बोल रहा है और यह मध्य रेलवे के भुसावल मंडल कार्यालय में भी दस्तक दे चुका है. डीआरएम कार्यालय में अब तक 500 में से 256 कर्मचारी कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं. इनमें से 86 कर्मचारियों का इलाज चल रहा है. इस बीच, बुधवार को एक ही कार्यालय में 12 और मरीज निकलने से हलचल मच गई. मध्य रेलवे भुसावल के मंडल वाणिज्यिक प्रबंधक युवराज पाटिल सहित 12 रेलवे अधिकारी कोरोना संक्रमित पाए गए. कोरोना बाधित रिपोर्ट पॉजिटिव आने के कारण अधिकारियों में हलचल मचा गई है. भुसावल शहर के साथ-साथ जिले में जलगांव शहर में कोरोना संक्रमणों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है. बता दे की भुसावल मध्य रेलवे का जंक्शन स्टेशन है. जहा रेलवे में हजारों कर्मचारी काम करते हैं. वाणिज्यिक प्रबंधक युवराज पाटिल कोरोना के कुछ लक्षणों का अनुभव किया हैं. उन्होंने सकारात्मक परीक्षण किया इस महत्वपूर्ण वाणिज्यिक प्रबंधक की रिपोर्ट भी सकारात्मक आई है, जिससे रेलवे कर्मचारियों में हड़कंप मच गई है. पाटिल ने कर्मचारियों से अपील की है की जो भी उनके संपर्क में आये है उन सभी ने सावधानी के रूप में उनके कोरोना की जांच करना चाहिये.
डीआरएम कार्यालय में 256 कर्मचारी प्रभावित
डीआरएम कार्यालय में 500 कर्मचारियों में से 256 प्रभावित अस्पताल में उपचाराधीन हैं. बाकी कर्मचारी घरेलू संगरोध हैं. रेलवे प्रशासन की ओर से कार्यालय के साथ-साथ रेलवे मंडल कार्यालय में एक ओटीपीसीआर शिविर स्थापित किया गया है. अभी कुछ और कर्मचारियों के नमूने लिए जा रहे हैं और रेलवे मंडल कार्यालय में कोरोना पॉजिटिव रोगियों की संख्या बढ़ने की आशंका है. एहतियात के तौर पर, समय-समय पर स्वच्छता, हाथ धोने और मास्क के उपयोग के लिए सख्ती से पालन किया जा रहा है.
परीक्षण के बाद ही प्रवेश
अपर रेल डिवीजन के अधीक्षक मनोज सिन्हा ने सूचित किया है कि जिन लोगों को सख्त जरूरत है, उन्हें पहचान और परीक्षण के बाद ही मंडल कार्यालय में आने की अनुमति दी जा रही है.
रेलवे अस्पताल कोरोना अस्पताल के रूप में अधिग्रहण किया
रेलवे अस्पताल में वर्तमान में चार वेंटिलेटर हैं और सकारात्मक रोगियों पर ऑक्सीजन का उपयोग किया जा रहा है. ऊपरी मंडल के अधिकारियों ने यात्रियों के लिए एक उचित जिम्मेदारी के रूप में ट्रेन के आगमन के बाद समय-समय पर सैनिटाइजर, स्प्रे करने और स्वच्छता करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं. रेलवे अस्पताल को हाल ही में कोरोना अस्पताल के रूप में अधिग्रहित किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *