Crime Health International Maharashtra National Politics Social States Uncategorized Uttar Pradesh

गोरेगांव पुलिस के अधिकारियों की लापरवाही के चलते 2 महीने बीतने के बाद भी नही ढूंढ पा रही है अपहरण हुई नाबालिक बच्ची

गोरेगांव पुलिस के अधिकारियों की लापरवाही के चलते 2 महीने बीतने के बाद भी नही ढूंढ पा रही है अपहरण हुई नाबालिक बच्ची

> महीनों भर से नाबालिक बच्ची के परिवार के सदस्य काट रहे पुलिस के चक्कर अब तक नहीं मिला कोई सुराग

मुंबई – इंद्रदेव पांडे

मुंबई पुलिस के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र गोरेगांव पश्चिम में रहने वाली 16 वर्षीय बच्ची का अपहरण का मामला सामने आया है जिसके बाद गोरेगांव पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कर छानबीन में जुट गई थी.

अपहरण हुई बच्ची के परिवार वालो से मिली जानकारी के मुताबिक मामला तब सामने जब पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ परिवार के सदस्यों का बयान दर्ज कर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई

वही पुलिस ने मामला दिनांक 5 अप्रैल के दिन अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया और छानबीन कर रही थी मगर दो महीने बीतने के बाद भी पुलिस को अपहरण हुई बच्ची का पुलिस को कोई सुराग हाथ नहीं लगा वही महिनो भर से बच्ची की माँ रजबुननिसा कुरेशी (37) पुलिस स्टेशन के चक्कर काट काट कर रही है थक हार कर बच्ची की माँ ने यूनाइटेड सोशल वेलफेयर फाउंडेशन एक संस्था की मदत ली जिसके बाद संस्था की महिला जर्नल सेक्रेटरी अफ़रोज़ा शेख ने महिला की मदत करते फाइट अगेंस्ट क्रिमिनल के पत्रकार से संपर्क किया और इस अपहरण जैसे संगीन अपराध के बार में बताया जिसके बाद फाइट अगेंस्ट क्रिमिनल के पत्रकार ने गोरेगांव पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरक्षक हरीश गोसावी से घटना के बारे जानकारी प्राप्त करने के लिए संपर्क किया तो उन्होंने संपर्क करने पर जवाब देना उचित नहीं समझा वही मुंबई पुलिस नाबालिक बच्चो के साथ अपहरण जैसे संगीन अपराध को लेकर काफी सतर्क रहती है मगर गोरेगांव पुलिस के अधिकारियों का रवैया देख कर एक बार फिर मुंबई पुलिस सुर्खियों में दिखती नज़र आ रही है कि अपने कर्तव्य का पालन करना तक भूल गए हैं

फिर फाइट अगेंस्ट क्रिमिनल के पत्रकार ने मुंबई पुलिस के प्रवक्ता एस चैतन्य से संपर्क किया और घटना के बारे में जानकारी दी वही पत्रकार से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि मुंबई पुलिस जॉच करेगी अपने लॉ के हिसाब से अब देखना यह होगा क्या मुंबई पुलिस 16 वर्षीय नाबालिक बच्ची के अपहरण जैसे संगीन अपराध को सुलझा पाती है यह नही

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *