Crime Entertainment Health Politics

घाटकोपर पुलिस का अत्याचार। सब्जी बेचने वाले कि बेरहमी से पिटाई। पूर्व मंत्री आरिफ(नसीम)खान ने अन्याय के खिलाफ़ उठाई अवाज़

घाटकोपर पुलिस का अत्याचार।
सब्जी बेचने वाले कि बेरहमी से पिटाई।
पूर्व मंत्री आरिफ(नसीम)खान ने अन्याय के खिलाफ़ उठाई अवाज़

मनोज दुबे

घाटकोपर अस्लफा भाजी मार्केट में असलम नाम के सब्जी बेचने वाले को घाटकोपर पुलिस ठाणे के दो पुलिस वालों ने बेरहमी से पिटाई की।

असलम अपने दो बेटे और पत्नी के साथ चिराग नगर में किराए के मकान में रहता है।लगभग 4 साल से असलम अस्लफा में भाजी का धंधा लगता है।आज पूरे देश में लॉकडाउन चल रहा है लेकिन सब्जी,दूध, दवाईयों की दुकान को खोलने की अनुमति दी गयी है।कुछ पुलिस वाले भीड़ जमा होने के बाम पर सब्जी वाले राशन वालों से आये दिन मारपीट कर रहे है।23 अप्रैल को लगभग 12 से 1 बजे के बीच दो पुलिस वाले आये और सब्जी विक्रेता को मारने लगे असलम का बेटा समीर सब्जी बेच रहा था उसने एक पुलिस वाले का डंडा पकड़ लिया और उसने पुलिस वालों को बोला की साहेब क्यों मार रहे हो में धंधा बंद कर रहा हु।

बस समीर की जस बात से नाराज हो कर पुलिस वालों ने समीर और उसके पिता की बुरी तरह पिटाई कर दी।जब पुलिस बाप बेटे को बुरी तरह पिट रही थी तो किसी अज्ञात व्यक्ति ने उस घटना की वीडियो बना ली और वायरल कर दी।न्यूज़ और सोशल मीडिया पे वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने उसी रात 2 बजे असलम और उसके बेटे को घर से उठाकर ले गयी और बाप बेटे पे पुलिस से मारपीट का मुकदमा दर्ज कर लिया।असलम और उसके बेटे को विक्रोली कोर्ट से जमानत मिल गयी।पुलिस उपायुक्त परिमंडल सात के परमजीत सिंह दहिया वीडियो में दिख रही बात को सच्चाई नही मानते।सही वक्त पे नगर सेवक किरण लांडगे ने आकर उन पुलिस वालों को रोक नही तो एक पुलिस वाला असलम को लादी उठाकर मारने जा रहा था।

ऐसे में पूर्व मंत्री आरिफ(नसीम)खान ने पुलिस के इस बर्बरता की कठोर आलोचना की और घाटकोपर के वरिष्ट पुलिस निरीक्षक नितीन अलखनुरे से बात कर इन दो पुलिस वालों पे जल्द से जल्द करवाई की मांग करने की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *