Entertainment Health Politics

प्रखंड के अधिकांश पंचायतों में मुखिया के द्वारा किया 4 मास्क व 2 साबुन का वितरण – सुरेन्द्र ।

प्रखंड के अधिकांश पंचायतों में मुखिया के द्वारा किया 4 मास्क व 2 साबुन का वितरण – सुरेन्द्र ।

कोरोना महामारी में भी पंचायतों के मुखिया मास्क व साबुन की उपलब्ध राशि को डकारने की जुगाड़ में !!

80 रूपये के 4 मास्क व 20 रुपये का 2 साबुन मुखिया को वार्ड सदस्य के माध्यम से प्रत्येक परिवार में कराना है वितरण।

 

समस्तीपुर (जकी अहमद)

ताजपुर प्रखंड के अधिकांश पंचायतों में मुखिया के द्वारा एक परिवार में 80 रु० के चार 4 मास्क एवं 20 रू० के 2 साबुन अब तक वितरण नहीं किया गया है जबकि कुछ पंचायतों में आंशिक रूप से ही अब तक वितरण कार्य शुरू किया गया है. इसको लेकर भाकपा-माले प्रखंड सचिव सुरेन्द्र प्रसाद सिंह ने प्रखंड के विभिन्न पंचायतों का दौरा किया. दौरा के दौरान विभिन्न पंचायतों के लोगों से जानकारी जुटाकर उन्होंने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि कोरोना जैसी महामारी में भी पंचायतों के मुखिया मास्क व साबुन की उपलब्ध राशि को डकारने में लगे हुए है.

इस महामारी से बचाव हेतु पंचायतों के मुखिया को त्वरित पहल करना चाहिए लेकिन उनकी अकर्मण्यता के कारण जनता को अब तक न तो मास्क मिला और न ही साबुन. मुखिया मास्क व साबुन वितरण की राशि का वारा-न्यारा करने में लगे हुए हैं. पंचम वित्त आयोग से मिली राशि डकारने में पंचायतों के मुखिया ‘तूं डाल-डाल, मैं पात-पात’ वाली कहावत को चरितार्थ करने में जुटे हुए हैं. ताजपुर प्रखंड विकास पदाधिकारी व अंचलाधिकारी को आवश्यक पहल करने व खुद की देखरेख में अति शीघ्र मास्क व साबुन का वितरण शुरू करवाने की मांग माले नेता ने की है.

उन्होंने कहा कि वार्ड सदस्य के माध्यम से चलाये जाने वाले इस योजना को लूटने की प्रयास में मुखिया लगे हुए हैं. ताजपुर पंचायत के मुखिया जवाहर साह द्वारा 2 मास्क और 1 छोटा साबुन वितरण रविवार को एक वार्ड में शुरू किया गया लेकिन लोगों के विरोध के कारण वे उल्टे पांव लौट गये. पूछने पर श्री साह ने बताया की जीविका द्वारा आपूर्ति नहीं किया जा रहा है.

जब माले नेता सुरेन्द्र ने जीविका के प्रखण्ड परियोजना पदाधिकारी ओसामा हसन से पूछा तो उन्होंने बताया कि जीविका के पास पर्याप्त मात्रा में मास्क है लेकिन उनसे मुखिया संपर्क ही नहीं किया. एक और जानकर ने बताया कि जीविका सरकारी संस्था है. उसके मास्क की कीमत 20 रू० है जबकी बाजार में 3 रू० तक की सस्ती मास्क उपलब्ध है.

अधिक बचत के लिए मुखिया जीविका के बजाय सर्जिकल दुकान से मास्क खरीदते हैं. माले नेता ने इसकी जाँच कर कारबाई की मांग अन्यथा आंदोलन चलाने की घोषणा की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *