Crime Health Politics

मुंबई में लॉकडाउन और कानून व्यवस्था की उड़ी धज्जिया 36 घंटे में अब तक 4 हत्या के मामले हुए दर्ज

पुरानी रंजिश के चलते नशे की धुत में मलाड परिसर में हुई दिनदहाड़े हत्या और फिर गोरेगांव में हुई फायरिंग

> मुंबई पुलिस के रिकॉर्ड में आरोपी पर दर्ज है दर्जनों संघगीं मामले

मुंबई में लॉकडाउन और कानून व्यवस्था की उड़ी धज्जिया 36 घंटे में अब तक 4 हत्या के मामले हुए दर्ज

मुंबई – इंद्रदेव पांडेय

महाराष्ट्र सरकार के आदेश के बाद और कोरोना महामारी के चलते मुंबई और महाराष्ट्र ने लॉकडाउन अब आदेश जारी कर दिया गया था और मुंबई में सभी पुलिस स्टेशन के अधिकारियों को भी मुंबई पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने आदेश जारी करते हुए कहा था कि अपने अपने क्षेत्र पुलिस पेट्रोलिंग और सख्त निगरानी रखने और जो कोई लॉकडाउन का पालन ना करें उन पर मामला दर्ज कर उन पर दंडात्मक करवाई करने का आदेश जारी किया गया है.

जानकारी के अनुसार मुंबई में एक ही दिन में गोरेगांव तथा मालाड परिसर में गोलीबारी किए जाने का मामला सामने आया है | मालाड पुलिस स्टेशन के अंतर्गत चलाई गई गोली में जहां एक आदमी की मौत हो गई तो वहीं गोरेगांव पुलिस स्टेशन की हद में चली गोली फ्लैट की खिड़की का कांच तोड़कर कुर्सी में जा घुसी। इन दोनों ही मामलों में मालाड और गोरेगांव पुलिस अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या और गोलीबारी का मामला दर्ज कर जांच में जुट गई है।


जानकारी के अनुसार गुरुवार की शाम सवा 6 बजे के करीब मालाड में राकेश यादव ( 37 ) को गोली मारकर हत्या कर दी गई | मालाड पुलिस को सूचना मिली की लिंक रोड, इनऑर्बिट मॉल के सामने कल्पतरू बिल्डिंग की बगल में खाली पड़ी जमीन पर राकेश यादव हत्या कर दी गई है। शुरू में चॉपर से हत्या किए जाने का मामला बताया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यादव की गोली मार कर हत्या किए जाने की बात स्पष्ट हुई। मालाड पुलिस सूत्रों की मानें तो मृतक यादव के भाई कमलेश यादव ने जिस पर अपने भाई की हत्या करने का शक जताया है, वो और मृतक कभी दोस्त हुआ करते थे।

दोनों बिल्डरों की साईट संभालने का काम करते थे। कुछ दिन पहले किसी बात को लेकर यादव ने आरोपी की पिटाई कर दी थी। साथ ही गोरेगांव लिंक रोड पर एक बिल्डर की साईट संभाल रहे आरोपी को वहां से हट जाने की धमकी भी दी थी। मालाड पुलिस की मानें तो उसी खुन्नस में आरोपी ने यादव की गोली मारकर हत्या कर दी। हत्यारों की शिनाख्त कर लिए जाने की बात मालाड पुलिस कर रही है।
गोलीबारी की दूसरी घटना गुरुवार को ही शाम साढ़े 4 बजे के करीब घटित हुई। गोरेगांव पश्चिम, प्रेम नगर के पास स्थित अनमोल टावर की 15वीं मंजिल पर रहनेवाले संजय खुराना (48) के घर में उस वक्त हडकंप मच गया जब उनके फ्लैट की खिड़की का कांच अचानक टूट गया। पहले तो उन लोगों को कुछ समझ में नहीं आया। सूचना देने के बाद वहां पहुंची गोरेगांव पुलिस ने जब बारीकी से जांच की तो ड्राइंग रूम में खिड़की के पास रखी कुर्सी में एक गोली धंसी हुई मिली। पुलिस को शक है की उक्त गोली बंदूक या राईफल से चलाई गई है। पिस्तौल या रिवॉलवर से चलाई गई गोली इतनी दूर तथा इतनी उंचाई तक नहीं जा सकती। गोरेगांव पुलिस प्रेम नगर तथा आसपास के क्षेत्र में सघन अभियान चलाकर आरोपी की तलाश में जुटी थी

जिसके 36 घंटे बाद आरोपी संतोष कलम्बे को गोरेगांव पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया वही दूसरी ओर आरोपी संतोष कलम्बे पर दर्जनों आपराधिक मामले दर्ज है. हत्या के पहले संतोष शराब के नशे में धुत था और अपनी खुन्नस निककने के लिए संतोष ने यादव पर चॉपर से हमला कर दिया जिसके चलते यादव की मौत हो गई हत्या के कुछ घंटे बाद संतोष ने गोरेगांव प्रेम नगर क्षेत्र में दो राउंड फायरिंग की और फिर मौके से फरार हो गया जिसके 36 घंटे बाद आरोपी संतोष कलम्बे ने गोरेगांव पुलिस के आगे आत्मसमर्पण कर दिया और पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर आगे की जांच कर रही है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *