Bihar Crime Education Health International Maharashtra National Politics Social States Uncategorized

विद्यालय के नाम में शहीद अमन जोड़कर गाँव में सड़क, शहीद अमन द्वार बने- सुरेन्द्र सिंह

विद्यालय के नाम में शहीद अमन जोड़कर गाँव में सड़क, शहीद अमन द्वार बने- सुरेन्द्र सिंह

समस्तीपुर (जकी अहमद)

गलवान में शहीद हुए सैनिकों के सम्मान में सोमवार को मध्य विद्यालय ताजपुर के प्रांगण में भाकपा माले द्वारा श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया. शहीद सैनिकों की याद में दो मिनट का मौन श्रद्धांजलि देकर सभा की शुरूआत की गई. अपने अध्यक्षीय संबोधन में प्रखण्ड सचिव सुरेन्द्र प्रसाद सिंह ने कहा कि गलवान में 20 सैनिकों के शहादत पर मोदी सरकार का व्यान भ्रामक है.

देश की जनता जानना चाह रही थी कि सीमा पर क्या हो रहा है लेकिन पहले तीन सैनिकों के शहीद होने की जानकारी दी गई फिर 20 सैनिकों की शहादत की. बाद में चीन ने 4 अधिकारियों समेत 10 सैनिकों को छोड़ा है जबकी भारत की ओर से इसे स्वीकार ही नहीं किया गया था कि हमारा एक भी सैनिक लापता है या चीनियों द्वारा पकड़ा गया है.

मोदीजी ने यह कहकर सबको चौका दिया है कि भारत के सीमा में चीनी सैनिकों के न कोई घुसपैठ है, न कब्जा है और न ही उनकी कोई चौकी है. फिर सीमा पर तनाव घटाने व दोनों ओर से पीछे हटने की वार्ताएं आखिर क्यों की जा रही है. माले नेता ने कहा कि देश की सीमा एवं सैनिकों के बारे में राष्ट्र को स्पष्ट जानकारी देने के बजाय सरकार जनता को भ्रामक जानकारी देती रही है. यह अनुचित है.

भाकपा माले देश की जनता से अपील करती है कि लद्दाख में नियंत्रण सीमा पर तनाव और भारत की चीन संबंधित नीति के मामले में सच को सामने लाने के लिए सरकार को बाध्य करें. सरकार से हमारी मांग है कि उस क्षेत्र में हालात के बारे में देश को अंधकार में न रखा जाए.
आशिफ होदा, ब्रहमदेव प्रसाद सिंह, नौशाद तौहिदी, असगर कमाल बबलू, मो० अरशद कमाल, जीतेंद्र सहनी सहनी समेत अन्य आइसा- इनौस एवं माले नेताओं ने सभा को संबोधित किया.
सभा के अंत में एक प्रस्ताव पारित कर शहीद अमन कुमार के गाँव में अविलंब सड़क बनाने, शहीद अमन द्वार बनाने एवं विद्यालय के नाम में शहीद अमन का नाम जोड़ने की मांग की गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *